ani1476857767

नई दिल्ली | फ़िलहाल देश दो धडो में बंटा हुआ है. एक धड़ अपने आपको हमेशा देश भक्त और दूसरो को देश द्रोही साबित करने पर लगा रहता है तो दूसरा धडा , पहले धड़े के कुतर्को में ही उलझा रहता है. सत्ता पक्ष या कहे मोदी भक्त , हमेशा तैयार मिलेंगे की जैसे ही दूसरी तरफ से हमला हो, तुरंत उसको राष्ट्रवाद और देशभक्ति में डुबाके ऐसा जवाब भेजा जाए जिससे की वो अपने तर्क ही ना रख पाए. कहने का मतलब यह है की अगर सवाल पुछा जा रहा है तो उसके जवाब में भी सवाल ही आता है.

फिल्मकार अशोक पंडित का उदहारण ले लीजिये. दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल , ट्वीटर पर प्रधानमंत्री मोदी से कुछ सवाल पुछ रहे है. लेकिन जवाब अशोक पंडित की तरफ से आता है और वो भी धमकी भरे लहजे में. हालांकि केजरीवाल भी हाजिर जवाबी के लिए जाने जाते है इसलिए उन्होंने , अशोक पंडित को करार जवाब दिया.

हुआ यूँ की मोदी की नोट बंदी के एक दिन बाद , एक अखबार के फ्रंट पेज पर मोदी की तस्वीर थी. यह पेटीएम् का विज्ञापन था जिसमे मोदी जी की तस्वीर का इस्तेमाल किया था. इस विज्ञापन पर सवाल खड़े करते हुए केजरीवाल ने एक ट्वीट किया जिसमे उन्होंने लिखा की पीएम् की घोषणा का पेटीएम् को सबसे ज्यादा लाभ मिलेगा. अगले ही दिन मोदी जी इसके विज्ञापन में नजर आये, क्या डील है प्रधानमंत्री जी?

केजरीवाल के इस ट्वीट से मोदी भक्त तिलमिला गए. उनके पास इस ट्वीट का तो कोई जवाब नही था तो लगे धमकी देने. मशहूर फिल्मकार अशोक पंडित ने केजरीवाल को ट्वीट कर जवाब दिय की बड़े हो जाइए अरविंद केजरीवाल, वरना एक दिन लोग सड़क पर आपको पीट-पीट कर मार देंगे.

अशोक पंडित के इस ट्वीट पर केजरीवाल कहाँ चुप रहने वाले थे, उन्होंने भी जवाब में ट्वीट किया की बीजेपी से और उम्मीद भी क्या की जा सकती है. जो बीजेपी के गलत कामो के खिलाफ आवाज उठाता है, बीजेपी उसके साथ मारपीट ही करेगी , जनता शांति चाहती है , मारपीट नही.


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें