कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और केंद्रीय वित्त मंत्री पी चिदंबरम ने मोदी सरकार की कश्मीर नीति को चरमपंथी नीति करार देते हुए कहा कि घाटी के लोग दो चरम स्थितियों बीच फंसे हुए हैं.

चिदंबरम ने ट्वीट किया, ‘कश्मीर घाटी के लोग दो चरम परिस्थितियों के बीच फंसे हुए हैं. केंद्र सरकार ने एक चरम रुख अपनाया हुआ है, जिससे समस्या और बिगड़ गई है, वैसे ही जैसे आतंकवादियों का रुख चरम है, जिसे खारिज करने की जरूरत है.‘

उन्होंने कहा है, ‘इसका नतीजा जम्मू एवं कश्मीर के लोगों और राज्य के भविष्य को भुगतना पड़ रहा है.‘ चिदंबरम ने अगले ट्वीट में कहा, ‘मैंने पहले भी कई मौकों पर चेतावनी दी थी कि कश्मीर मुद्दा या समस्या (इसे जो भी नाम दिया जाए) एक नासूर बन चुका है.

कांग्रेस नेता का यह बयान जम्मू कश्मीर की मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती के उस बयान के बाद आया है कि घाटी के मौजूदा संकट के लिए कानून व्यवस्था नहीं, बल्कि बाहरी तत्व जिम्मेदार हैं. महबूबा ने कहा, ‘जम्मू कश्मीर की स्थिति के लिए बाहरी तत्व जिम्मेदार हैं, हमारे पड़ोसी देशों की भी संलिप्तता है.

और पढ़े -   रोहिंग्याओं के अगर आतंकियों से है सबंध तो सबूत सार्वजानिक करे मोदी सरकार: कांग्रेस

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE