नई दिल्ली | दिल्ली की केजरीवाल सरकार से बर्खास्त किये गए पूर्व जल मंत्री कपिल मिश्रा आज अपने समर्थको के साथ अरविन्द केजरीवाल के जनता दरबार पहुंचे. लेकिन पुलिस ने उनको मुख्यमंत्री आवास के अन्दर जाने नही दिया. पुलिस का तर्क था की केवल 7 लोग अन्दर जा सकते है जबकि कपिल मिश्रा अपने सभी समर्थको को अन्दर ले जाने पर अड़े हुए थे. जब पुलिस ने उनको रोका तो केजरीवाल के आवास ही बैठ गए और भजन कीर्तन करने लगे.

और पढ़े -   गौरी लंकेश और रोहिंग्या मुस्लिमों की हत्या पर खुश होने वाले एक: अलका लांबा

कपिल मिश्रा ने केजरीवाल के जनता दरबार में जाने की सूचना शुक्रवार को ही ट्वीटर के जरिये दी थी. इसलिए वो तय समय पर अपने 20 समर्थको के साथ मुख्यमंत्री आवास पहुंचे. उनके साथ आम आदमी पार्टी की मृतक नेता संतोष कोली की माँ भी थी. लेकिन जैसे ही ये लोग मुख्यमंत्री आवास के नजदीक पहुंचे तो पुलिस ने केवल 7 लोगो को अन्दर जाने की इजाजत दी. इसके लिए कपिल मिश्रा नही माने और उन्होंने सबको अन्दर जाने की जिद की.

और पढ़े -   म्यांमार में तो हिन्दू भी मारे जा रहे, मोदी सरकार उन्हें ही बचा कर ले आए: ओवैसी

लेकिन पुलिस नही मानी और कपिल मिश्रा समेत उनके सभी समर्थको को गेट पर ही रोक दिया. इस पर कपिल मिश्रा भड़क गए और वही हंगामा करने लगे. उनके समर्थक बैरिकेड पर चढ़ गए और अन्दर जाने की कोशिश करने लगे. बाद में कपिल मिश्रा वही सड़क पर बैठ गए और भजन कीर्तन करने लगे. भजन में उन्होंने गाया की अब तो गद्दी छोड़ो केजरीवाल, रघु पति राजा राम.

और पढ़े -   अमेरिका में बोले राहुल - असहिष्णुता और बेरोजगारी के चलते देश खतरे में जा रहा

बताते चले की अरविन्द केजरीवाल ने कपिल मिश्रा को जल मंत्री के पद से हटा दिया था जिसके बाद से वो केजरीवाल पर लगातार हमला कर रहे है. उन्होंने केजरीवाल पर कई भ्रष्टाचार और दो करोड़ रूपए घुस लेने का आरोप लगाया. हालाँकि अपने आरोपों को सही साबित करने के लिए कपिल ने अभी तक कोई भी सबूत पेश नही किया है. शुक्रवार को भी वो केजरीवाल से मिलकर उनको 7 प्रस्ताव देने वाले थे.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE