उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने पत्रकार गोरी लंकेश की हत्या पर भारतीय जनता पार्टी पर तीखा हमला बोला है.

उन्होंने कहा कि जो भी पत्रकार बीजेपी के खिलाफ लिखेंगे, वह सुरक्षित नहीं हैं. उन्होंने कहा, एक तरफ तो आप डिजिटल इंडिया की बात कर रहे हो और अगर कोई पत्रकार आपके खिलाफ लिख दे तो उसकी जान चली जाती है.

और पढ़े -   रोहिंग्याओं के अगर आतंकियों से है सबंध तो सबूत सार्वजानिक करे मोदी सरकार: कांग्रेस

अखिलेश यादव ने लिखा, बेंगलुरु की एक महिला पत्रकार ने भी बीजेपी के खिलाफ लिख दिया था…उसकी जान ले ली. ध्यान रहे गौरी लंकेश की 5 सितंबर की रात 3 अज्ञात हमलावरों ने गोली मारकर हत्या कर दी थी.

इसी बीच गौरी लंकेश की हत्या के मामले में बड़ा खुलासा हुआ है. गौरी लंकेश और वामपंथी विचारक एमएम कलबुर्गी की हत्या एक ही पिस्तौल से की गई है.

और पढ़े -   महिला आरक्षण बिल: सोनिया की पीएम मोदी को चुनौती, लोकसभा में है बहुमत पास करवा कर दिखाए

फरेंसिक साइंस लैबरेटरी की शुरुआती जांच रिपोर्ट में पता चला है कि लंकेश और कलबुर्गी की हत्या में एक ही बंदूक (7.65 एमएम देसी पिस्टल) का इस्तेमाल किया गया. इस पिस्तौल से ही महाराष्ट्र के कम्युनिस्ट नेता गोविंद पानसारे की हत्या में भी इस्तेमाल किया गया था.

ऐसे में स्पष्ट है कि तीनों मर्डर केस में एक ही हथियार का इस्तेमाल किया गया. हालांकि, इसकी औपचारिक पुष्टि नहीं की गई है.

और पढ़े -   रोहिंग्या पर ओवैसी ने लगाई राजनाथ को फटकार, कहा - उन्हें अवैध अप्रवासी कहना ठीक नहीं

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE