burka

सुप्रीम कोर्ट में ट्रिपल तलाक का विरोध करके’ समान आचार संहिता को लागू करने की कोशिश में लगी केंद्र की मोदी सरकार को इस मुद्दें पर भारी आलोचनाओं का सामना करना पड़ रहा हैं.

गुरुवार को कांग्रेस ने भी समान नागरिक संहिता को भारत में लागू कर पाना असंभव बताया हैं. वहीँ जद (एकी) ने आरोप लगाया कि भाजपा नेतृत्व वाली केंद्र सरकार कई राज्यों में विधानसभा चुनावों से पहले धु्रवीकरण का प्रयास कर रही है.

पूर्व कानून मंत्री व कांग्रेस नेता वीरप्पा मोइली ने कहा  कि भारत एक ऐसा देश है जहां कई समुदाय और समूहों के अपने पर्सनल लॉ हैं. ऐसे में समान आचार संहिता को लागू कर पाना असंभव है. उन्होंने आगे कहा, किसी को इसे हिंदू बनाम मुसलिम के मुद्दे के तौर पर नहीं लेना चाहिए. देश में 200-300 पर्सनल लॉ हैं.

वहीँ जद (एकी) सांसद अली अनवर ने कहा कि यह इस तरह की बहस का समय नहीं है. वे समाज का ध्रुवीकरण करना चाहते हैं.


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें