राज्यसभा की सदस्यता से बसपा सुप्रीमो मायावती के इस्तीफे का आरजेडी प्रमुख लालू प्रसाद यादव ने समर्थन किया है. लालू यादव ने कहा है कि दलितों का मुद्दा सांसद पद से ऊपर है.

उन्होंने कहा कि मायावती सदन में दलितों की आवाज उठा रही थीं, लेकिन बीजेपी के सदस्यों ने उन्हें बोलने नहीं दिया. लालू ने कहा इस बात में कोई शक नहीं कि मायावती देश की दलित नेता हैं और उन्हें सदन में दलितों की बात नहीं रखने दी गई. उन्होंने कहा अगर मायावती सहमत होती हैं तो वो अपनी पार्टी के कोटे से उन्हें राज्यसभा सदस्य बनाने के लिए तैयार हैं.

लालू ने कहा कि दलितों की आवाज दबाई जा रही है. भाजपा अहंकार में डूबी हुई है. मायावती के साथ राज्यसभा में जो व्यवहार किया गया, उससे साफ है कि भाजपा दलित विरोधी पार्टी है. आरजेडी प्रमुख ने कहा कि मैं मायावती को उनकी बहादुरी के लिए उन्हें बधाई देता हूं. उन्होंने गरीबों के सामने राज्यसभा का पद भी कोई मायने नहीं रखता है.

और पढ़े -   ट्रिपल तलाक पर कानून लाने से पहले सभी दलों से करेंगे चर्चा: मुख्तार अब्बास नकवी

गौरतलब रहें कि मायावती ने मंगलवार (18 जुलाई) को राज्यसभा में सहारनपुर में दलित विरोधी हिंसा के मुद्दे पर आसन द्वारा उनको पूरी बात कहने की अनुमति नहीं दिये जाने के कुछ ही घंटों बाद उच्च सदन की सदस्यता से इस्तीफा दे दिया.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE