लखनऊ | भारतीय सेना के प्रति बेहद ही आपत्तिजनक टिप्पणी करने के बाद उत्तर प्रदेश के पूर्व मंत्री आजम खान आलोचनाओ के घेरे में आ गए है. लगभग सभी राजनितिक पार्टियों ने उनके बयान की निंदा की है. खुद समाजवादी पार्टी ने उनके बयान से अपने को अलग कर लिया है. हालाँकि चारो और से हो रही आलोचनाओ के बीच उन्होंने अपनी सफाई में कहा की मैंने वो ही कहा जो मीडिया में लिखा गया, कहा गया.

टीवी न्यूज़ चैनल आज तक से बातचीत करते हुए आजम खान ने कहा की मैंने कही पर भी सेना पर रेप करने का आरोप नही लगाया. मैंने यह बात नही कही. मेरे बयान को गलत तरीके से पेश किया गया. मैं कहना चाहता था की सेना के साथ अमानवीय बर्ताव हो रहा है. मैंने वो कहा जो अख़बार और मीडिया में आया. अपनी बात को साबित करने के लिए आजम खान ने दो अखबारों की कटिंग भी दिखाई.

उन्होंने कहा की जागरण में लिखा हुआ है की महिला आतंकवादी सुकमा में शहीद जवानों के निजी अंग तक काटकर ले गयी. सेना के जवानों के सर काटे जा रहे है और हमारे वजीरे आजम सर काटने वालो (नवाज शरीफ ) के यहाँ जाते है , उनको आम और कश्मीरी शाल भेंट करते है , उनकी माँ के पैर छुते है. हमने हमेशा कहा है की सर काटने वालो से बदला लो. लेकिन हमारी सरकार ने ऐसा कोई कदम नही उठाया बल्कि औपचारिका भर कर पाकिस्तान के प्रधानमंत्री से व्यक्तिगत ताल्लुकात बढ़ाये.

बीजेपी की आलोचना करते हुए आजम खान ने कहा की आज देश का दलित-मुस्लमान परेशान है. उनको खाना खाने, पहनावे और ट्रेन में सफ़र करने के दौरान मारा जा रहा है. मैं इन फासीवादी ताकतों का आइटम गर्ल बन गया हूँ, बीजेपी के लिए मैं नफरत का एजेंडा हूँ. मेरे खिलाफ नफरत फैलाकर उनको वोट मिलते है. मैं कहना चाहता हूँ की मुझसे नफरत नही प्यार कीजिये. मैं बच्चो को पढाता हूँ, एक यूनिवर्सिटी चलाता हूँ, एक छोटे से घर में रहता हूँ, मेरा काम देखिये.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

अभी पढ़ी जा रही ख़बरें

SHARE