देशभर में हो रहे किसान आंदोलन को लेकर बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने मोदी सरकार को निशाने पर लेते हुए कहा कि मोदी सरकार ने किसानों से उनकी फसलों की कीमत को लेकर जो वादा किया था वह पूरा नहीं किया है. जिसकी वजह से किसानो में बड़ा गुस्सा है.

इस दौरान उन्होंने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ को चुनोती देते हुए कहा कि यूपी और बिहार में फिर से चुनाव करा दिए जाएं तो उनकी पॉपुलैरिटी का अंदाजा हो जाएगा और पता लग जाएगा कि लोगों को योगी का काम कितना पसंद आया है.

और पढ़े -   हार्दिक पटेल की पटेल समुदाय से अपील कहा, बीजेपी को वोट मत देना चाहे मेरे पिता भी कहे

नीतीश का ये बयान रविवार को पटना में केशव प्रसाद मौर्य के दिए बयान के बाद आया जिसमे उन्होंने कहा, मुख्यमंत्री नीतीश कुमार में हिम्मत नहीं है कि बिहार विधानसभा भंग कर के दोबारा चुनाव करा लें.

नीतीश कुमार ने कहा, ‘इससे मुझे कोई दिक्कत नहीं है, मैं कल ही चुनाव के लिए तैयार हूं. लेकिन, बिहार और उत्तर प्रदेश विधानसभा के साथ दोनों राज्यों की लोकसभा की सीटों पर उपचुनाव कराना होगा, जिस पर एनडीए के उम्मीदवार जीते थे.’

और पढ़े -   गौरी लंकेश और रोहिंग्या मुस्लिमों की हत्या पर खुश होने वाले एक: अलका लांबा

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE