पशु क्रूरता निवारण अधिनियम को लागू कर निशाने पर आई केंद्र की मोदी सरकार ने भारी विरोध के बीच सुचना और प्रसारण मंत्री एम. वेंकैया नायडू ने मौर्चा संभालते हुए बीफ के मुद्दें पर कहा कि देश में सबको अपने पसंद का भोजन खाने का अधिकार है.

आकाशवाणी वार्षिक पुरस्कार समारोह को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा, मैं विशुद्ध मांसाहारी हूं और किसी ने भी मुझसे नहीं कहा कि क्या खाना चाहिए और क्या नहीं खाना चाहिए. खान-पान निजी पसंद है. इस बारे में क्यों बहस हो रही है. नायडू ने आगे कहा कि ‘मैं मांसाहारी हूं. मुझे कभी भी किसी ने भी कुछ भी खाने से नहीं रोका है. भोजन व्यक्तिगत पसंद की चीज है.

और पढ़े -   विपक्ष एकता का पोस्टर पोस्ट करने वाले ट्वीटर अकाउंट से मायावती ने झाडा पल्ला, ट्विटर ने अकाउंट को किया सस्पेंड

एनडीटीवी पर सीबीआई की छापेमारी को लेकर नायडू ने कहा कि कोई भी छूट का दावा सिर्फ इसलिए नहीं कर सकता कि वह मीडियाकर्मी है. उन्होंने कहा हम सिर्फ इतना चाहते हैं कि आप कानून का पालन करे.

गौरतलब रहे कि मोदी सरकार के कैटल बैन के खिलाफ तमिलनाडु और केरल में कई जगहों पर कई ‘बीफ पार्टियां’ भी आयोजित की गई. वहीँ मेघालय में कई बीजेपी नेताओं ने अपने इस्तीफे दे दिए.

और पढ़े -   स्वतंत्रता दिवस कार्यक्रम में कुर्सी न मिलने पर भडके बीजेपी विधायाक बोले, मैं अब भी गुलाम

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE