gulam

कश्मीर में जारी हिंसा को लेकर कांग्रेस ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को नसीहत देते हुए कहा कि बलूचिस्तान ‘‘जैसी दूसरी चीजों पर बात करने’’ से पहले सुनिश्चित करना चाहिए कि घाटी में स्थिति नियंत्रण में लाई जाए.

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आजाद ने कहा कि ‘‘जब घर में आग लगी है’’ तो प्रधानमंत्री कुछ और बात कर रहे हैं. कांग्रेस मुख्यालय में संवाददाताओं से कहा, ‘‘हमारे प्रधानमंत्री अंतरराष्ट्रीय हैं. विदेशों का दौरा करते हुए उन्हें यहां हो रही घटनाओं पर भी ध्यान देना चाहिए. उन्हें वहां ध्यान देना चाहिए जहां स्थिति खराब है.

बलूचिस्तान और पीओके के बारे में पीएम मोदी के बयान पर आजाद ने कहा कि मोदी को ‘‘दूसरी चीजों के बारे में बात करने’’ से पहले सुनिश्चित करना चाहिए कि घाटी की स्थिति पर नियंत्रण किया जाए. उन्होंने आगे कहा, ‘‘कुछ लोगों की रोजाना मौत हो रही है, चाहे यह नागरिकों की हो या सुरक्षा बलों की.. वे हमारे अपने लोग हैं. उन्होंने इस बारे में एक भी शब्द नहीं बोला.

आजाद ने कहा, ‘‘लेकिन वह देश के सिर का ताज बचाने के बारे में कुछ नहीं कहेंगे. हाल में खत्म हुए संसद के मॉनसून सत्र के दौरान उन्हें कश्मीर के बारे में बोलने के कम से कम छह अवसर मिले लेकिन ‘‘वह अपने कमरे में बैठे रहे.


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें