digvijay-singh_55bf808ea39c8

देश भर में गौरक्षा के नाम पर मचे कोहराम के बीच इत्तेहाद मिल्लत काउंसिल ने दिल्ली के मावलंकर सभागार में एक सेमीनार का आयोजन किया. इस सेमीनार में मुख्य अतिथि के रुप में कांग्रेस महासचिव और दिग्विजय सिंह भी शामिल हुए थे.

दिग्विजय सिंह ने सेमीनार के बारे में कई ट्वीट किये उन्होंने सेमीनार के आमंत्रण पर ट्वीट कर कहा कि गौ मॉंस निर्यात के विरुद्ध संगोष्ठी इत्तिहाद ए मिल्लत काउन्सिल द्वारा आयोजित संगोष्ठी में मुझे मौलाना तौकीर रज़ा जी ने आमंत्रित किया गया था.

उन्होंने अगले ट्वीट में गौरक्षा के बारें में कहा कि ”हुज़र रसूल उल्लाह ने हदीस में कहा है “गाय के दूध में शफा है और गाय के मॉंस में बीमारी है”

दिग्विजय सिंह ने इस बाबत आखिरी ट्वीट में कहा कि ”क्या आप को मालूम है कि गौ मॉंस के चार सबसे बड़े निर्यातक कौन हैं ? सब हिन्दू हैं !”

सेमीनार में कांग्रेस नेता दिग्विजय ने कहा कि गाय में हिन्दुओं की श्रद्धा है और अगर बीफ निर्यात बंद हो तो ये अच्छी बात होगी. दिग्विजय ने कहा कि संघ विचारक वीर सावरकार खुद गौकशी पर प्रतिबंध के विरोधी थे. लेकिन एक हिन्दू होने के नाते मैं चाहूंगा की गौ हत्या न हो और बीफ निर्यात पर पाबंदी लगे.

उन्होंने गायों के बेचने पर सवाल उठाते हुए कहा कि ‘बूढ़ी हो जाने पर हिन्दू लोग गाय को क्यों बेच देते हैं? क्या बूढ़ी हो जाने पर आप अपनी मां को बेच देते हैं? क्यों नहीं अपने आप को गौ-रक्षक कहने वाले ये लोग ऐसी गायों की सेवा करते.’

 


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें