सांसद पप्पू यादव ने कहा कि भारत-पाकिस्तान शांति प्रक्रिया में सिविल सोसायटी को शामिल करना चाहिए।

बिहार के सांसद पप्पू यादव ने हंदवाड़ा कस्बे में मंगलवार (12 अप्रैल) को सुरक्षा बलों द्वारा की गयी गोलीबारी की निंदा करते हुए बुधवार (13 अप्रैल) को कहा कि बंदूक कश्मीर मामले को नहीं सुलझा सकता। गोलीबारी में तीन लोग मारे गए हैं। यहां दौरे पर आए यादव ने कहा, ‘‘मैं इसका (कल की घटना का) पूर्ण विरोध करता हूं। मुझे कभी समझ नहीं आया कि नेताओं ने कश्मीर के मामले को लटका कर क्यों रखा है। सरकारों ने लोगों पर अत्याचार किए हैं।’’ उन्होंने कहा, ‘‘बंदूक मामले का हल नहीं है। यह प्रदेश में स्थिति को और खराब ही करेगा।’’

और पढ़े -   खुद को बचाने के लिए नीतीश और सुशील मोदी के सामने नाक रगड़ रहे: लालू यादव

यादव ने कहा कि वह लोकसभा में कश्मीर के मामले को उठाएंगे और जोर देते हुए कहा कि इसके लिए ‘‘नेता जिम्मेदार हैं। आम आदमी शांति चाहता है, लेकिन कश्मीर मुद्दा बड़ा होता जा रहा है।’’ उन्होंने कहा, ‘‘कुछ नेताओं को छोड़ दें, तो किसी ने भी मामले को सुलझाने का प्रयास नहीं किया है और इसे वोट बैंक के प्रिज्म के माध्यम से देखा जाता है।’’

और पढ़े -   मध्य प्रदेश निकाय चुनावो में जीत हासिल कर भी नुकसान में रही बीजेपी, मंदसौर में मिली करारी हार

सांसद ने कहा कि भारत-पाकिस्तान शांति प्रक्रिया में सिविल सोसायटी को शामिल करना चाहिए। कश्मीर मामले को राजनीति से परे रखा जाना चाहिए और उसे सामाजिक सांस्कृतिक मामले के रूप में देखा जाना चाहिए। आफस्पा के बारे में पूछने पर यादव ने कहा कि किसी भी संगठन या सेना को ‘‘निरंकुश’’ शक्ति नहीं दी जानी चाहिए, कि उन्हें कानून से डर ना लगे। उन्होंने कहा, ‘‘इसे वापस ले लेना चाहिए।’’

और पढ़े -   स्वतंत्रता दिवस पर छलका रविश का दर्द कहा, जिस चैनल पर आप आजादी का जश्न देख रहे है वो खुद आजाद नही

एनआईटी श्रीनगर में दूसरे राज्यों से आए छात्रों के खिलाफ पुलिस कार्रवाई पर प्रतिक्रिया देते हुए यादव ने कहा कि वह छात्रों का मामला सुलझाने के लिए राजनीति का प्रयोग करने के खिलाफ हैं। (Jansatta.com)


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE