Gulam-Nabi-azad-620x400

कश्मीर हिंसा को लेकर राज्यसभा में कांग्रेस के नेता गुलाम नबी आजाद केंद्र और राज्य सरकार पर जमकर बरस पड़े. उन्होंने कश्मीर में हिंसा को को रोकने के लिए केंद्र और राज्य सरकार की मंशा पर सवाल उठाते हुए पूछा कि कश्मीर में हिंसा को को रोकने के लिए जिन पैलेट गनों से फायरिंग की जा रही है उनका इस्तेमाल हरियाणा में जाट आंदोलन के समय क्यों नहीं किया गया था.

और पढ़े -   बीजेपी के जंगलराज में मुस्लिमों को मारा जा रहा और सरकार पूरी तरह खामोश - सीताराम येचुरी

गुलाम नबी आजाद ने आगे कहा कि कांग्रेस राज्य से आतंकवाद खत्म करने की मुहिम में केंद्र के साथ है लेकिन वहां के निवासियों के साथ जिस तरह बर्ताव किया जा रहा है, हम उसका समर्थन नहीं करते हैं. उन्होंने राज्य सरकार को हद से ज्यादा फोर्स का इस्तेमाल करने से बचना की सलाह दी हैं.

उन्होंने पूछा ‘जिस तरह से आतंकियों के साथ व्यवहार किया जाता है क्या उसी तरह से नागरिकों के साथ भी करना चाहिए ?. क्या हमें वही गोली इस्तेमाल करनी चाहिए जो आतंकवादियों के खिलाफ की जाती है ? उन्होंने कहा कि  सरकारों को कश्मीर के निवासियों के साथ वैसा ही व्यवहार करना चाहिए जैसा मां-बाप अपने बच्चों के साथ करते हैं.

और पढ़े -   सीबीआई ने जेटली के खिलाफ 400 करोड़ रु के डीडीसीए घोटाले की जांच क्यों की - कीर्ति आजाद

उन्होंने सत्ता पक्ष पर आरोप लगाते हुए कहा कि कुछ नेता अपने बयानों से घाटी में माहौल बिगाड़ रहे हैं. जिसके कारण कश्मीर में हालात बिगड़ते जा रहे हैं.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE