asaduddin ow

ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुसलमीन (AIMIM) के प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तिरंगा यात्रा पर सवाल उठाते हुए कहा कि जिस तिरंगा यात्रा की बात पीएम मोदी कर रहे हैं, उसी तिरंगे को वीर सावरकर ने देश का झंडा मानने से इंकार कर दिया था.

शनिवार को लखनऊ में उन्होंने भाजपा पर हमला करते हुए कहा कि देश की पहली आतंकवादी घटना महात्मा गांधी की हत्या थी. इसे अंजाम देने वाले नाथूराम गोडसे पहले आतंकवादी थे. सावरकर भी उनके मददगार थे. श्यामा प्रसाद मुखर्जी ने उनकी मदद के लिए पैसे एकत्र किए थे. उन्होंने आगे कहा कि मैं ये बातें यूं नहीं कह रहा, सरकार पटेल मे अपने पत्र में श्यामा प्रसाद मुखर्जी के चंदा एकत्र करने और गोडसे की मदद का जिक्र करते हुए इस पर ऐतराज जताया था.

पार्टी कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए ओवैसी ने कहा कि वो तिरंगा फहराएंगे और जन-गण-मन भी गाएंगे, लेकिन तिरंगे को लेकर बीजेपी को अपनी अंतरात्मा में झांकना चाहिए. ओवैसी यहीं नहीं रुके. उन्होंने कहा कि इस देश में आजादी के लिए संघर्ष शुरुआत मुसलमानों ने की, कांग्रेस या दूसरे दल के किसी नेता ने नहीं, लेकिन मुसलमानों को इतिहास में जगह नहीं मिली क्योंकि इतिहास लिखने वाले मुसलमान नहीं थे.

ओवैसी ने ये भी कहा कि मुसलमानों के योगदान को किसी से कम नहीं आंका जा सकता. ओवैसी के मुताबिक आजादी के वक्त मुसलमानों ने हिंदुस्तान को चुना, लेकिन उन्हें शक की निगाह से देखा गया.


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें