सम्भल : समाजवादी पार्टी के सीनियर नेता डॉ. शफ़ीक़ुर्रहमान बर्क़ ने एक सनसनीखेज़ खुलासा किया है. उनका दावा है कि 2014 के लोकसभा चुनाव में उनकी हार की वजह कोई और नहीं, बल्कि उनकी खुद की ही पार्टी थी.

TwoCircles.net से एक ख़ास बातचीत के दौरान बसपा व सपा से चार बार सांसद का चुनाव जीत चुके डॉ. शफ़ीक़ुर्रहमान बर्क़ ने यह आरोप लगाया कि उनकी खुद की पार्टी ने बीजेपी के साथ मिलीभगत कर उनकी हार सुनिश्चित कर दी. ऐसे में यह आरोप इसलिए भी और ज़्यादा महत्वपूर्ण हो जाता है क्योंकि समाजवादी पार्टी पर पहले भी बीजेपी के साथ मिलभगत के आरोप लगते रहे हैं.

और पढ़े -   कानून से ऊपर नहीं गौरक्षक, जो लोगों को बेरहमी से मार रहे है: केंद्रीय मंत्री अठावले

डॉ. शफ़ीक़ुर्रहमान बर्क़ ने स्पष्ट तौर पर कहा कि –‘यहां मुझे ज़बरदस्ती हरवाया गया है. समाजवादी पार्टी का मैं कैंडीडेट था और सपा ही मुझे हरवा रही थी. यहां के एमएलए-मंत्री, संगठन सब मिलकर मुझे हरवा रहे थे, लेकिन पार्टी ने कोई एक्शन नहीं लिया.’

बर्क़ ने हालांकि यह साफ़ नहीं किया कि उनका अगला क़दम क्या होगा? आगे वो क्या करेंगे? इस सवाल पर वो हंसकर टालते हुए कहते हैं कि –‘don’t want to say something about this…’

और पढ़े -   दिल्ली बीजेपी दो फाड़ होने की कगार पर मनोज तिवारी और विजय गोयल में बढ़ी तकरार

मगर डॉ. बर्क़ ने अपने इस बयान से सियासी हलचल ज़रूर मता दी है. अब देखने वाली बात यह है कि उनके इस बयान पर समाजवादी पार्टी क्या प्रतिक्रिया देती है…

स्पष्ट रहे हैं कि 85 साल के डॉ. शफ़ीक़ुर्रहमान बर्क़ संभल सीट से चार बार (1974, 1977, 1985, और 1989) उत्तर प्रदेश विधानसभा के विधायक रह चुके हैं. 1990-91 में वो यूपी के कैबिनेट मंत्री थे. उसके बाद 11वीं, 12वीं, 14वीं व 15वीं लोकसभा चुनाव में इस ज़िला से जीत दर्ज करके सांसद भी बने. डॉ. बर्क़ संभल के दीपासराय इलाक़े में रहते हैं.

और पढ़े -   मायावती ने भीम आर्मी को बताया बीजेपी की उपज, कहा - बसपा का नहीं है कोई लेना-देना

 


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE