चुनाव आयोग ने शरद यादव को बड़ा झटका देते पर जनता दल यू पर से उनके दावे को खारिज कर दिया है. आयोग ने बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को पार्टी का वास्तविक नेता माना है.

यादव को आयोग की और से कहा गया कि उन्होंने याचिका में अपने दावे के समर्थन में दस्तावेज पेश नहीं किये हैं , इसलिए उनकी याचिका खारिज की जाती है.

और पढ़े -   जब तिब्‍बती शरणार्थी तौर पर रह सकते हैं तो रोहिंग्‍या मुस्लिम क्‍यों नहीं: ओवैसी

ध्यान रहे यादव ने पिछले दिनों आयोग के सामने यह दावा किया था कि उनका गुट ही असली जनता दल यू है. जनता यू के अध्यक्ष  नीतीश कुमार के भाजपा के साथ हाथ मिलाने के बाद से ही शरद ने बगावती तेवर अपनाए हुए है.

जिसके बाद नीतीश कुमार शरद गुट के महासचिव अरूण कुमार और सांसद अली अनवर को राज्यसभा में पार्टी के उपनेता पद से हटा चुके है.

और पढ़े -   म्यांमार में तो हिन्दू भी मारे जा रहे, मोदी सरकार उन्हें ही बचा कर ले आए: ओवैसी

ऐसे में अब शरद यादव की राज्यसभा की सदस्यता भी कभी भी जा सकती है. नीतीश कुमार की तरफ से शरद यादव और अली अनवर की सदस्यता रद करने की  याचिका राज्य सभा के चेयरमैन को पहले ही दी जा चुकी है.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE