नई दिल्ली | कांग्रेस के दिग्गज नेता और राज्यसभा सांसद दिग्विजय सिंह अपने बयानों और ट्वीट की वजह से सुर्खियों में बने रहते है. ज्यादातर मौको पर उनके ट्वीट या बयान प्रधानमंत्री मोदी या बीजेपी को निशाना बनाते है. शायद ही कोई ऐसा मौका होता है जिसे दिग्विजय अपने हाथो से जाने देते होंगे. लेकिन कई बार उनके बयानों की वजह से विवाद भी पैदा हो चूका है जिसकी वजह से वह आलोचनाओ का भी शिकार हुए है.

इस बार भी उन्होंने कुछ ऐसा ही किया है. उन्होंने शुक्रवार को एक ट्वीट कर मोदी और उनके समर्थको पर निशाना साधा. लेकिन इस दौरान वो मर्यादाओ की सीमओं को पार कर गए. उन्होंने मोदी और उनके समर्थको के खिलाफ बेहद ही आपत्तिजनक शब्दों का इस्तेमाल किया. इस ट्वीट में उन्होंने मोदी समर्थको को ‘भक्त’ कहकर पुकारा है. हालाँकि उन्होंने स्पष्ट किया की ये शब्द मेरे नही है लेकिन मैं खुद को इसे शेयर करने से नही रोक पाया.

और पढ़े -   अमेरिका में बोले राहुल - असहिष्णुता और बेरोजगारी के चलते देश खतरे में जा रहा

दरअसल दिग्विजय सिंह ने शुक्रवार को एक तस्वीर को ट्वीट किया. इस तस्वीर में प्रधानमंत्री मोदी की तस्वीर के साथ तीन लाइन लिखी हुई थी. इनमे लिखा हुआ था,’ मेरी दो उपलब्धिया : 1. भक्तों को चु#$% बनाया, 2. चु#$% को भक्त बनाया’. हालाँकि इस तस्वीर के साथ दिग्विजय ने यह भी लिखा की यह उनका अपना नही है. लेकिन उन्होंने मोदी को मुर्ख बनाने में माहिर भी करार दिया.

और पढ़े -   सुब्रमण्यम स्वामी ने की हिन्दुओं से अपील - मुस्लिमों में डाले फुट, करे एकता को खत्म

उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा,’ यह मेरा नही है, लेकिन पोस्ट करने से खुद को नही रोक पाया. जिसने यह बनाया उससे माफ़ी लेकिन वह बेवकूफ बनाने की कला में माहिर है.’ दिग्विजय सिंह जैसे जन प्रतिनिधि को ऐसे ट्वीट से बचना चाहिए. क्योकि जिस भाषा का इस्तेमाल तस्वीर में किया गया है वह शेयर करते हुए एक जन प्रतिनिधि अच्छा नही लगा. इसलिए इस ट्वीट पर कई सवाल उठने लाजिमी है. फ़िलहाल सोशल मीडिया पर दिग्विजय सिंह की आलोचना होनी शुरू हो गयी है.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE