नई दिल्ली | कांग्रेस के सबसे वरिष्ठ नेताओं में से एक और अपने ट्वीट के जरिये लगातार सुर्खियों में रहने वाले दिग्विजय सिंह ने इस बार बाबा रामदेव को अपने निशाने पर लिया है. दिग्विजय ने बाबा रामदेव को चूर्ण, चटनी और चड्ढी बेचने वाला करार दिया. यही नही उनके निशाने पर प्रधानमंत्री मोदी भी रहे. उन्होंने मोदी पर सीबीआई का गलत इस्तेमाल करने का अरोप लगाया.

दरअसल दो दिन पहले प्रधानमंत्री मोदी , बाबा रामदेव की कंपनी पतंजली में एक रिसर्च लैब का उदघाटन करने आये थे. उद्घाटन करते समय रामदेव ने मोदी को राजऋषि की उपाधि देकर सबको चौका दिया. खुद मोदी ने भी इस बात का जिक्र करते हुए कहा की यह मेरे लिए चौकाने वाला पल था. इस तरह मोदी को नयी उपाधि से नवाजा जाना दिग्विजय सिंह को पसंद नही आया.

और पढ़े -   रोहिंग्या मुस्लिमों के मुद्दें पर भारत बना रहा म्यांमार पर दबाव: सुषमा स्वराज

उन्होंने एक के बाद एक ट्वीट कर रामदेव और मोदी पर खूब प्रहार किये. अपने पहले ट्वीट में दिग्विजय सिंह ने लिखा,’ फ़र्ज़ी पासपोर्ट फ़र्ज़ी डिग्री बनवाने वाला चूर्ण चटनी चड्डी बेंचने वाला भगवा वस्त्र धारी हो कर प्रमं को राज ऋषि के पद से सम्मानित कर रहा है.’ दिग्विजय यही नही रुके बल्कि अगले ट्वीट में वाराणसी की विद्वत परिषद पर सवाल खड़े करते हुए उन्होंने पुछा की क्या उन्होंने रामदेव को राजऋषि की उपाधि देने के लिए अधिकृत कर दिया है?

और पढ़े -   रोहिंग्या मुस्लिम मामले में मोदी पर बरसे मणिशंकर कहा, भारतीय मुस्लिमो को 'कुत्ता' समझने वाले से क्या रखे उम्मीद

इससे पहले के ट्वीट में दिग्विजय सिंह ने बताया की राजऋषि की उपाधि देने का काम वाराणसी की विद्वत परिषद का है. तो क्या उन्होंने रामदेव को इसके लिए अधिकृत कर दिया है?. उन्होंने आगे कहा की भगवान् घोर कलयुग आ गया है. आप एक बार फिर अवतरित होकर देश को ऐसे लोगो से बचाइये.. हे प्रभु धर्म की रक्षा करो.

और पढ़े -   जब तिब्‍बती शरणार्थी तौर पर रह सकते हैं तो रोहिंग्‍या मुस्लिम क्‍यों नहीं: ओवैसी

अपने अगले ट्वीट में मोदी पर सीबीआई का दुरूपयोग करने का आरोप लगाते हुए उन्होंने कहा की चुनाव से पहले मोदी, न खाऊंगा और न खाने दूंगा. और अब ,खाने वाले के ख़िलाफ़ जो आवाज़ उठायेगा उसके ख़िलाफ़ सीबीआई कार्यवाही करेगी.. कलयुग है.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE