“राहुल गांधी ने आज केरल में कांग्रेस नेताओं से कहा कि आपसी मतभेद भुलाकर आगामी विधानसभा चुनावों में एकजुट होकर लड़ें। वहीं राज्य के पार्टी नेताओं ने कांग्रेस उपाध्यक्ष से कहा है कि पश्चिम बंगाल में मार्क्‍सवादी कम्‍युनिस्‍ट पार्टी (सीपीएम) के साथ गठबंधन नहीं करें। केरल में पश्चिम बंगाल के साथ ही विधानसभा चुनाव होने हैं।”

राज्य में यूडीएफ के सत्ता में बने रहने का विश्वास जताते हुए राहुल ने कहा कि केवल एक बात है – माकपा कांग्रेस को नहीं हरा सकती, कांग्रेस ही कांग्रेस पार्टी को हरा सकती है।  राहुल ने केरल में कांग्रेस नेताओं से कहा कि अपने मतभेद भुलाकर विधानसभा चुनाव लड़ें और कहा कि यह समय आपस में लड़ाई का नहीं है।

और पढ़े -   हिन्दू संत-महंतों के लिए कांग्रेस ने किया सेल का गठन, पार्टी में ही उठने लगी विरोध की आवाज

राहुल ने अपने भाषण में सीपीएम के साथ गठबंधन के बारे में कुछ नहीं कहा बल्कि पार्टी कार्यकर्ताओं और नेताओं को स्पष्ट संकेत दिए कि राज्य इकाई में अंदरूनी संघर्ष और कलह को खत्म करें। पश्चिम बंगाल में माकपा नेता ममता बनर्जी नीत तृणमूल कांग्रेस को बाहर करने के लिए कांग्रेस से गठबंधन पर जोर दे रहे हैं वहीं प्रदेश कांग्रेस के नेता इस मुद्दे पर एकजुट नहीं हैं। राहुल ने कहा, राज्य में वरिष्ठ नेता काफी प्रतिभासंपन्न हैं। एक के पास जो नहीं है वह दूसरे के पास है। वे एकजुट होकर काफी शक्तिशाली हैं। उनकी अपनी शक्तियां और कमजोरियां हैं। उन्हें एकजुट रहना होगा। (outlookhindi)

और पढ़े -   नीतीश की पहले से ही आरएसएस से सेटिंग थी, तेजस्वी तो सिर्फ बहाना था - लालू यादव

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE