आरजेडी प्रमुख लालू प्रसाद यादव ने मोदी सरकार द्वारा रक्षा, फार्मा, नागरिक उड्डयन, भारत में बने खाद्य पदार्थों में 100 फीसदी विदेशी निवेश को मंजूरी को लेकर आलोचना करते हुए कहा कि पीएम ने एफडीआई लाने के यूपीए के फैसले को देश को बेचने वाला फैसला बताया था. अब कोर सेक्टरों में सौ फीसदी एफडीआई से क्या ये मान लिया जाए कि उन्होंने देश को बेच दिया है.

और पढ़े -   मध्य प्रदेश निकाय चुनावो में जीत हासिल कर भी नुकसान में रही बीजेपी, मंदसौर में मिली करारी हार

लालू ने इस बारे में ट्वीट कर कहा कि डिफेंस में सौ फीसदी विदेशी निवेश की बजाय सरकार को घरेलू डिफेंस कंपनियों को मजबूत करना चाहिए था. यदि डीआरडीओ, एचएएल, ओएफबी को मजबूत किया जाता तो हमें ज्यादा कुछ हासिल हो सकता था.

lali tw

लालू ने पीएम मोदी के एक पुराने ट्वीट जिसमे  कांग्रेस शासन काल के दौरान रिटेल सेक्टर में एफडीआई का विरोध किया गया था, को शेयर करते हुए लिखा कि ‘पीएम की कथनी-करनी में जमीन-आसमान का अंतर है. खुदरा व्यापारी के हित में कसीदे पढ़ने वाले आज उन्हें ही रौंदने में लगे हैं.

और पढ़े -   अगले साल विधानसभा चुनावो के साथ ही हो सकते है लोकसभा चुनाव

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE