उज्जैन पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस महासचिव दिग्विजय सिंह ने देश की मौजूदा हालात के लिए केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार सहित प्रदेश की शिवराज सरकार पर निशाना साधा है.

दिग्विजय सिंह बोले- केसरिया दुपट्टे डाले कुछ लफंगे प्रदेश की फिजा बिगाड़ रहे हैंउन्होंने आरोप लगाया कि देश और प्रदेश में भाईचारे को खत्म किया जा रहा है. हिंदू और मुसलमान के बीच खाई पैदा की जा रही है. मध्यप्रदेश में जारी हिंसक घटनाओं को लेकर हिंदूवादी संगठनों पर आरोप लगाए.

दिग्विजय ने कहा कि, केसरिया दुपट्टा डाले कुछ लफंगे प्रदेश में फिजा बिगाड़ रहे हैं. वहीं, आरएसएस, बजरंग दल और विश्व हिन्दू परिषद देश को बांटने का काम कर रहे हैं.

उन्होंने राम मंदिर को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, संघ प्रमुख मोहन भागवत पर निशाना साधाते हुए कहा कि, ‘मैं पूछना चाहता हूँ नरेन्द्र मोदी, अमित शाह, संघ प्रमुख मोहन भागवत सहित भाजपा के तमाम नेताओं से कि क्या वे सुप्रीम कोर्ट के निर्णय को मानेंगे या नहीं.’

केसरिया दुपट्टा वाले बिगाड़ रहे माहौल: उन्होंने कहा कि केसरिया दुपट्टा डाले कुछ लफंगे पर एनएसयूआई और युवक कांग्रेस के कार्यकर्ता अहिंसक तरीके से रोक लगाने की कोशिश करेंगे और यह लगातार जारी रहेगा. उन्होंने कहा कि शाहरुख खान और आमिर उतने ही सच्चे देश भक्त हैं, जितने हम और बाकी सब. इन पर आरोप लगाना उचित नहीं है.

मोदी, पाकिस्तान के बिन बुलाए मेहमान: दिग्विजय सिंह कहा कि, एक सर के बदले में दस सर लाने का वादा करने वाले नरेंद्र मोदी अब खुद पाकिस्तान में बिन बुलाये मेहमान के रूप में चले जाते हैं. अब तो मीडिया में खबर आ रही हैं कि एक दिन नवाज शरीफ के घर शादी में नरेन्द्र मोदी पहुंचते हैं, तो दूसरे दिन भारत का मोस्ट वांटेड दाउद इब्राहिम.

पठानकोट हमले में तस्करों का हाथ: पठानकोट हमले को लेकर उन्होंने कहा कि, वहां के एसपी रात तीन बजे अपने सुनार दोस्त और बावर्ची के साथ देर रात क्या कर रहे थे. जबकि ख़ुफ़िया तंत्र को पहले से जानकारी थी कि एयरबेस में आतंकी घुसे आए हैं. उन्होंने कहा कि, पठानकोट हमले में एक ड्रायवर की हत्या कर दी जाती है. जिसकी जांच करना जरुरी है. कहीं ना कहीं इस पूरे मामले में बार्डर पार के तस्करों का हाथ है और अब देश की सुरक्षा एजेंसी भी यही कह रही है.

वहीं, पंजाब के एक मंत्री पर तस्करी का आरोप है और पंजाब की एन्फोर्स्मेंट डिपार्टमेंट भी जांच कर रही है. पठानकोट एसपी मंत्री के सबसे ख़ास आदमी हैं, जिनकी भी जांच होना चाहिए.

कैलाश से यह उम्मीद नहीं थी: कैलाश विजयवर्गीय के आमिर खान की आने वाली फिल्म दंगल को लेकर दिए गए बयान को लेकर कहा कि, मुझे कैलाश विजयवर्गीय से यह उम्मीद नहीं थी. मैं उनके बयान की निंदा करता हूं. यदि उनकी पार्टी और कार्यकर्ता माहौल बिगाड़ने का प्रयास करेंगे, तो कांग्रेसी अहिंसक रूप से इन भाजपाईयों का सामना करने के लिए तैयार हैं.

सिंहस्थ में भाजपा की दलाली: सिंहस्थ को लेकर दिग्विजय सिंह ने कहा की सिंहस्थ-2004 के मामलों की जांच नहीं हो पाई, फिर भी सिंहस्थ के सारे कामों की कमान उन्हीं लोगों के हाथ में हैं. ठेकेदार भी सारे भाजपा के ही हैं. जितने भी काम सिंहस्थ में हो रहे हैं, सभी गुणवत्ता विहीन है. शिवराज के चिरंजीव अधिकारियों के साथ पार्टनरशिप करते हैं और सारे काम मिलजुलकर होते हैं.

भाजपा राज नहीं, व्यवसाय करती है: दिग्विजय ने आरोप लगाया कि भाजपा राज नहीं करती है, बल्कि व्यवसाय करती है और खुल कर अधिकारियों के साथ दलाली करती है. हमारा काम अभी मध्यप्रदेश में चौकीदारी का है. यदि सरकार चाहे तो मुझ पर प्रकरण दर्ज कर ले. मैं खुले रूप से कहता हूं कि मुझे प्रदेश की लोकायुक्त पर कतई विश्वास नहीं है. साभार: न्यूज़ 18


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें