नई दिल्ली: कांग्रेस ने आरोप लगाया कि RSS खुद के संविधान के खिलाफ एक राजनीतिक संगठन बन गया है। राज्यसभा में नेता प्रतिपक्ष गुलाम नबी आजाद ने कहा, “जब RSS का संविधान बना था, तो संगठन से कहा गया था कि वे अपने संविधान में यह शामिल करें कि वे कोई राजनीतिक संगठन नहीं है, बल्कि वे सिर्फ सांस्कृतिक, सामाजिक और शैक्षिक गतिविधियों में शामिल रहेंगे। वे इसके लिए राजी हो गए थे।”

और पढ़े -   किसानों की कर्जमाफ़ी पर नायडू का शर्मनाक बयान - देश में फैशन बन चूका है कर्ज माफी

आजाद ने कहा, “लेकिन अब RSS सांस्कृतिक संगठन नहीं रह गया है। यह शैक्षिक या सामाजिक संगठन नहीं है। यह एक पूर्ण राजनीतिक संगठन बन गया है। लेकिन इसने अपने खुद के संविधान को ताक पर रख दिया है।”

आजाद ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी (BJP) तो मात्र एक मुखौटा है, सरकार तो राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) चला रहा है। (khabarindiatv)

और पढ़े -   इस्‍लाम के नाम पर पहले डराया जा रहा फिर मुस्लिमों की जान ली जा रही: ओवैसी

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE