महाराष्ट्र के सीएम देवेंद्र फड़णवीस ने अपने भारत माता की जय कहने वाले बयान पर कायम रहते हुए कहा कि वो सीएम रहे ना रहे लेकिन भारत में रहने वालों को भारत माता की जय तो बोलना ही पड़ेगा। उन्होंने कांग्रेस की तरफ माफी की मांग पर कहा कि उन्होंने कुछ भी गलत नहीं कहा जिसके लिए उन्हें माफी मांगनी पड़े।

सोमवार को सीएम ने विधानसभा में कहा कि क्या मैंने भारत माता की जय कहा तो मैं माफी मांगू? उन्होंने कहा कि मेरा सीएम पद चला जाए तो भी चलेगा लेकिन मैं भारत माता की जय कहता रहूंगा। उन्होंने एक बार फिर अपने बयान को दोहराते हुए कहा कि जो भारत माता की जय नहीं कहेगा उसे इस देश में रहने का अधिकार नहीं है। साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि मेरे बयान को किसी धर्म से जोड़कर मत देखें।

और पढ़े -   BHU में छात्राओं के आंदोलन की सुब्रमण्यम स्वामी ने की 'नक्सल आंदोलन' से तुलना

इससे पहले एनसीपी नेता जीतेंद्र अव्हाड ने फड़णवीस के बयान का विरोध करते हुए कहा था कि कब कहना है? सुबह उठते समय कहना है, रात को सोते समय कहना है कब कहना है भारत माता की जय और अगर भारत माता की जय नहीं कहेंगे तो कौन से देश भेजेंगे। उसका वीजा और पासपोर्ट आप देंगे?

बता दें शनिवार को फड़णवीस ने कहा था कि भारत माता की जय ना बोलने वालों को देश में रहने का अधिकार नहीं है। उनके इस बयान पर जमकर बवाल हुआ जिसके बाद फड़णवीस ने कहा कि इस बयान का किसी धर्म से कोई लेना देना नहीं है। (khabar.ibnlive.com)

और पढ़े -   देश की अर्थव्यवस्था को वायग्रा की जरूरत, बीजेपी को सरकार चलाना नहीं आता: कपिल सिब्बल

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE