नई दिल्ली | सोमवार को पुरे देश में बड़ी धूमधाम से ईद मनायी गयी. इस दौरान राजनैतिक हस्तियों के यहाँ भी ईद की दावत का आयोजन किया गया जिसमे गिले शिकवे भूल, पक्ष और विपक्ष , दोनों ही तरफ के नेता शामिल हुए. इनमे केन्द्रीय मंत्री मुख़्तार अब्बास नकवी और बीजेपी प्रवक्ता शाहनवाज हुसैन के यहाँ दी गयी ईद की दावत प्रमुख थी. इसमें मोदी सरकार के लगभग सभी मंत्रियो ने शिरकत की.

यही नही मुख़्तार अब्बास नकवी के यहाँ दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल भी ईद की दावत का लुत्फ़ लेने पहुंचे. उन्होंने नकवी को ईद की मुबारक बाद देते हुए गले लगाया. इस दौरान वहां मोदी सरकार के कई मंत्री भी मौजूद रहे. जिनमे वित्त मंत्री अरुण जेटली, कानून मंत्री रवि शंकर प्रसाद,  पेट्रोलियम मंत्री धर्मेन्द्र प्रधान , एम जे अकबर और अनुराधा पटेल शामिल थे. मालूम हो की अरुण जेटली ने केजरीवाल के खिलाफ मानहानि का मुकदमा किया हुआ है.

उधर शाहनवाज हुसैन ने भी अपने यहाँ ईद के उपलक्ष में दावत का आयोजन किया. इसमें न केवल नेता बल्कि पत्रकार लोग भी शामिल हुए. सबसे चौकाने वाली बात यह रही की ये सभी नेता राष्ट्रपति भवन में दी गयी इफ्तार पार्टी से नदारद दिखे. लेकिन ईद की दावत से इनको कोई परहेज नही रहा. शुक्रवार को राष्ट्रपति ने इफ्तार पार्टी रखी थी. लेकिन इस पार्टी में मोदी सरकार को कोई भी मंत्री शामिल नही हुआ.

मीडिया में इस बात को लेकर काफी सवाल भी उठाये गए. मीडिया रिपोर्ट के अनुसार केन्द्रीय मंत्रियो ने जानबूझकर इफ्तार पार्टी से दूरी बनायी. यह पहला मौका था जब किसी भारतीय प्रधानमंत्री या उनके मंत्रियो ने न केवल इफ्तार पार्टी का आयोजन नही किया बल्कि उसमे शिरकत भी नही की. यही नही मोदी से प्रभावित होकर इस बार उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भी इफ्तार पार्टी का आयोजन नही किया.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

अभी पढ़ी जा रही ख़बरें

SHARE