दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने सीबीआई पर बड़े आरोप लगाए हैं। केजरीवाल ने आरोप लगाते हुए कहा कि सीबीआई राजधानी के 77 प्रशासनिक अधिकारियों को गतल तरीके से समन भेजकर उन्हें परेशान कर रही है। ऐसा उस उस समय से हो रहा है, जब से उनके प्रधान सचिव राजेंद्र कुमार के दफ्तर पर छापा पड़ा था।

‘टाइम्स ऑफ इंडिया’ को दिए गए इंटरव्यू में केजरीवाल ने कहा कि अधिकारी केंद्र सरकार के इशारे पर काम कर रही है। जिसके कारण हमें काम करने में परेशानी हो रही है। अगर केंद्र सरकार हमें सहयोग करती तो हम बेहतर काम करके दिखा पाते।

और पढ़े -   कर्ज माफी पर शिवसेना की धमकी - योजना ठीक से लागू नहीं हुई तो बीजेपी का फोड़ेंगे भांडा

क्रेंद सरकार के हस्तक्षेप का असर ब्यूरोक्रसी पर भी पड़ रहा है। हमारी सरकार किसी काम को करने के लिए आगे आती है तो केंद्र सरकार अधिकारियों से उस काम करने से मना कर देती है और धमकी भी देती है।

केजरीवाल ने कहा कि हमने शुरुआती 49 दिनों के कार्यकाल में कई बड़े काम किए थे। यही कारण था कि पुलिस वालों ने रिश्वत लेना बंद कर दिया था।
लेकिन बीते साल 8 जून को केंद्र सरकार ने मुकेश मीणा को एसीबी चीफ बनाकर कंट्रोल अपने हाथ में ले लिया। इसके बाद उन लोगों के खिलाफ कार्रवाई नहीं हो पा रही है जिन पर एफआईआर दर्ज कराई गई थी। बता दें कि जिन लोगों के खिलाख यह एफआईआर दर्ज कराई गई थी उसमें मुकेश अंबानी और पूर्व सीएम शीला दीक्षित का नाम भी शामिल था।

और पढ़े -   मोब लिंचिंग की हर घटना में आरएसएस से जुड़े लोगों का हाथ: गुलाम नबी आजाद

मोदी को कहे गए अपशब्द को लेकर केजरीवाल ने कहा कि मैंने उनके लिए जो भी कहा उसके लिए मुझे किसी प्रकार का पछतावा नहीं है। उनसे मेरी आखिरी मुलाकात बीते साल अगस्त में हुई थी, उस समय भी उन्होंने बात नहीं की थी। (News24)


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE