कांशीराम की बहन स्‍वर्ण कौर ने चेतावनी दी कि मायावती गांव आने की कोशिश न करें।

बसपा सुप्रीमो मायावती को कांशीराम की बहन ने उनकी याद में बने मेमोरी में जाने से रोक दिया। कांशीराम की बहन स्‍वर्ण कौर ने मायावती पर गंभीर आरोप भी लगाए। उन्‍होंने कहा,’मायावती हमारी दुश्‍मन नंबर एक है। उसने मेरी भाई को बंधक बनाकर हत्‍या कर दी। उसने उन्‍हें परिवार वालों से नहीं मिलने दिया। मेरी बड़ी मां अपने बेटे का इंतजार करते हुए मर गई।’ 15 मार्च को कांशीराम की 82वीं जयंती पर मेमोरियल में आयोजित कार्यक्रम में दिल्‍ली के मुख्‍यमंत्री अरविंद केजरीवाल आएंगे। कांशीराम की बहन ने कहा कि उनका स्‍वागत किया जाएगा। इसी दिन मायावती गांव से 50 किलोमीटर दूर नवां शहर में रैली को आयोजित करेगी।

मायावती ने ही 19 साल पहले कांशीराम मेमोरियल की नींव उनके ननिहाल प्रिथीपुर बंगा में रखी थी। कांशीराम की बहन ने चेतावनी दी कि मायावती गांव आने की कोशिश न करें। केजरीवाल की प्रशंसा करते हुए स्‍वर्ण कौर ने कहा,’वाराणसी में 22 फरवरी को रविदास जयंती पर कार्यक्रम के दौरान उन्‍हें मेरे बारे में बताया गया था। वे मुझसे मिलने आए और मिलने का न्‍यौता भी दिया। मैंने उन्‍हें वीरजी की जयंती के बारे में बताया। उन्‍होंने कहा कि वह कार्यक्रम में आएंगे।’

स्‍वर्ण कौर बाबू कांशीराम चैरिटेबल फांउडेशन की चेयरपर्सन भी हैं। उन्‍होंने कहा कि वह किसी राजनीतिक पार्टी में शामिल नहीं होंगी। ऐसा करना उनके भाई का अपमान होगा। जब तक वह जीवित हैं वह किसी पार्टी में नहीं जाएंगी। लेकिन वे बसपा का समर्थन भी नहीं करेंगे क्‍योंकि इस पार्टी को मायावती ने कब्‍जाया लिया है। हालांकि उन्‍होंने कहा कि पंजाब विधानसभा चुनावों में वे किसी राजनीतिक दल को समर्थन दे सकते हैं। उन्‍होंने कहा,’ जो पार्टी दलितों का ख्‍याल रखेगी हम उसे ही समर्थन देने काी अपील लोगों से करेंगे।’ (Jansatta)


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें