दलितों के अपमान का मुद्दा बनाकर भाजपा ने कांग्रेस सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया के खिलाफ मौर्चा खोल दिया. मध्य प्रदेश में बीजेपी के अध्यक्ष नंदकुमार सिंह चौहान के आदेश पर प्रदेश भर में ज्योतिरादित्य सिंधिया का पुतला दहन किया गया.

दरअसल, नंदकुमार सिंह का दावा है कि भाजपा के दलित विधायक द्वारा अशोकनगर में ट्रामा सेंटर का उद्घाटन किया करने के बाद ज्योतिरादित्य सिंधिया ने ट्रामा सेंटर को गंगाजल से धुलवाया और फिर उद्घाटन किया. हालांकि सिंधिया ने इन आरोपो को झूठा करार दिया.

और पढ़े -   राजनाथ सिंह: रोहिंग्याओं को वापस लेने के लिए म्यांमार तैयार, अब आपत्ति क्यों ?

इस मुद्दें को लेकर आज लोकसभा में भी हंगामा मचा. जिस पर सिधिया ने कहा कि बीजेपी अगर साबित करे दें कि वह दलित विरोधी हैं तो मैं सदन की सदस्यता से इस्तीफा दे दूंगा. उन्होंने इस सबंध में भाजपा के दो सांसदों के खिलाफ विशेषाधिकार प्रस्ताव भी दायर किया.

दरअसल सोमवार को प्रश्नकाल के दौरान बीजेपी सांसद विरेंद्र कुमार तथा मनोहर उतवल ने इस मामले को उठाया था. इसी के साथ सिंधिया ने नंदकुमार चौहान को अनावश्यक बयानबाजी से जनता को गुमराह कर रहे हैं मैंने उनको कानूनी नोटिस देने का फैसला किया है कि आखिर दलित अपमान हुआ कैसे?

और पढ़े -   टोल मांगने पर प्रदेश बीजेपी अध्यक्ष का जवाब, मैं सांसद हूँ और टोल फ्री भी

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE