कोलकाता | महाभारत धारावाहिक में द्रोपदी का किरदार निभाने वाली बीजेपी सांसद रूपा गांगुली ने ममता सरकार की आलोचना करते हुए बेहद ही विवादित बयान दिया है. उन्होंने बंगाल की बिगडती कानून व्यवस्था को रेखांकित करने के लिए रेप जैसे अपराधो का सहारा लिया.

उन्होंने कहा की प्रदेश में महिलाओ के खिलाफ क्राइम इतना बढ़ चुका है की यहाँ की कोई महिला अपने आप को सुरक्षित महसूस नही करती है. शुक्रवार को ममता सरकार की आलोचना में रूपा गांगुली ने कुछ ऐसा कह दिया जो एक जन प्रतिनिधि को शोभा नही देता. उन्होने कहा की प्रदेश की तृणमूल सरकार में महिलाओं के खिलाफ अपराध बढे है. वो प्रदेश में सुरक्षित नही है.

रूपा यही नही रुकी और उन्होंने अपनी मर्यादाये लांघते हुए कहा की जो पार्टिया तृणमूल कांग्रेस को सपोर्ट करती है मैं उनके नेताओं से कहना चाहती हूँ की वो अपनी बहु बेटियों, भाभी-बीबियो को ममता की मेहमान नवाजी के बैगैर बंगाल में रहने के लिए भेजे. अगर 15 दिन भी बैगैर रेप के रह जाए तो मुझे आकर बताना.

रूपा गांगुली के इस बयान के बाद बंगाल की राजनीती में भूचाल आ गया. सत्ताधारी तृणमूल कांग्रेस ने रूपा के इस बयान की निंदा करते हुए खुद विवादित बयान दे दिया. मर्यादाये इधर भी लांघी गयी और उधर भी. रूपा गांगुली को जवाब देने के चक्कर में ममता सरकार के मंत्री भी कुछ ऐसा बोल गए जो किसी भी हाल में स्वीकार्य नही होना चाहिए.

राज्य में ऊर्जा मंत्री सोवनदेब चट्टोपाध्याय ने रूपा गांगुली को जवाब देते हुए कहा की सबसे पहले उन्हें यह बताना चाहिए की उनका प्रदेश में कितनी बार रेप हुआ. सरकार पर कोई भी आरोप लगाने से पहले उन्हें यह बताना चाहिए. इससे ही स्पष्ट हो जायेगा की उनके बयान में कितनी सच्चाई है. बताते चले की रूपा गांगुली राज्यसभा में बीजेपी की सांसद है. वो 2015 में राजनीती में आई और 2016 में बीजेपी के टिकेट पर उन्होंने विधानसभा का चुनाव लड़ा. लेकिन वो चुनाव हार गयी. बाद में उन्हें राज्यसभा भेजा गया.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

अभी पढ़ी जा रही ख़बरें

SHARE