amit1

अयोध्या में राम मंदिर और बाबरी मस्जिद के विवाद को एक बार फिर से हवा देते हुए कहा कि उनकी पार्टी मंदिर बनाने के लिए कटिबद्ध है. हालांकि उन्होंने इस विवाद का फैसला अदालत पर छोड़ा हैं.

उन्होने कहा, ‘‘बीजेपी का रूख साफ है. मामला अदालत में है. या तो अदालत के फैसले या सर्वसम्मति से ही फैसला होगा.’’ उन्होंने कहा कि जहां तक मंदिर निर्माण का प्रश्न है, बीजेपी मंदिर बनाने के लिए प्रतिबद्ध है.

वहीँ भाजपा अध्यक्ष ने बीजेपी सांसद सुब्रमण्यम स्वामी द्वारा राम मंदिर को लेकर दिए जा रहे बयानों पर प्रतिक्रिया देने से साफ़ इनकार कर दिया. अमित शाह ने कहा कि स्वामी ने जो कहा है, वह उनका बयान है और इस पर वह कुछ टिप्पणी नहीं करना चाहते.

उन्होंने तीन तलाक के मुद्दे पर कहा कि समाज में ऐसी व्यवस्था नहीं होनी चाहिए कि कोई पति तीन बार तलाक बोलकर महिला को छोड दे. उन्होंने कहा, ‘हर धर्म और हर समाज की महिला को पुरूषों के समान अधिकार मिलना चाहिए. सभी पार्टियां इसे लेकर अपना रूख स्पष्ट करें.’

शाह ने आगे कहा कि मामला उच्चतम न्यायालय में लंबित है. केन्द्र सरकार ने अपना पक्ष रख दिया है. महिलाओं के अधिकार के हनन का हक किसी को नहीं है.


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें