दीव | गुजरात में इसी साल होने वाले विधानसभा चुनावो से पहले सत्तारूढ़ बीजेपी को करारा झटका लगा है. यहाँ हुए एक नगर पालिका चुनाव में बीजेपी को करारी हार का सामना करना पड़ा है. इन चुनावो में मुख्य विपक्षी दल कांग्रेस को बड़ी सफलता हाथ लगी है. नगर पालिका चुनाव में मिली हार के बाद जहाँ बीजेपी के अन्दर हलचल मच गयी है वही कांग्रेस के अन्दर एक नयी उर्जा का संचार हो गया है.

गुजरात की दीव नगर पालिका चुनाव में कांग्रेस ने 13 में से 10 सीट जीतकर एक बार फिर नगर निगम पर कब्ज़ा जमा लिया है. दीव नगर निगम पर कांग्रेस पिछले 10 साल से काबिज है. इस बार माना जा रहा था की शायद बीजेपी कांग्रेस को कड़ी टक्कर देकर उसे सत्ता से बेदखल कर सकती है. लेकिन जनता ने बीजेपी को सीरे से नकार दिया और कांग्रेस पर एक बार फिर विश्वास जताया.

और पढ़े -   ट्रिपल तलाक मामले में ओवैसी ने कहा - 'सुप्रीम कोर्ट के फैसले को जमीन पर लागू करना बड़ा काम'

इन चुनावो में बीजेपी को केवल तीन सीटो से ही संतोष करना पड़ा. यहाँ तक की जिस चेहरे के ऊपर बीजेपी चुनाव लड़ रही थी वो भी चुनाव हार गए. बीजेपी ने कीरट वाजा के नाम पर चुनाव लड़ा था लेकिन वो भी कांग्रेस उम्मीदवार से 17 वोटो से हार गए. उधर कांग्रेस नेता और वर्तमान नगर निगम अध्यक्ष हितेश सोलंकी अपनी सीट बचाने में कामयाब रहे. उन्होंने बीजेपी के जीतेन्द्र भारया को 598 वोटो से हरा दिया.

और पढ़े -   संघ पर राहुल गाँधी के वार से बोखलाई बीजेपी, संघ नेता भी हुए लाल

दीव नगर पालिका के लिए इसी शनिवार वोट डाले गए थे. इन चुनावो में करीब 73 फीसदी मतदान हुआ था जिसके बाद से दोनों ही दल अपनी अपनी जीत का दावा कर रहे थे. उधर करारी हार मिलने के बाद बीजेपी उपाध्यक्ष कीरट वाजा ने इस्तीफा दे दिया. वही प्रचंड जीत मिलने के बाद कांग्रेस के गुजरात अध्यक्ष भारत सोलंकी ने ट्वीट किया,’दीव ने बीजेपी को नकार दिया, नगर पालिका में कांग्रेस 13 में से 10 सीटों पर विजयी रही. यह तो शुरुआत है. ऐसा पूरे गुजरात में होगा.’

और पढ़े -   पोस्टर जारी कर सभी विपक्षी दलों से एकजुट होने की अपील, मायावती और अखिलेश दिखे साथ साथ

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE