mamata_banerjee_650_kolkata_rally_13dec14

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने आज दावा किया कि केंद्र की नोटबंदी मुहिम के कारण हुई परेशानियों से देश भर में 68 लोगों की मौत हो चुकी है.

उन्होंने ट्वीट कर कहा, ‘‘बंगाल के बर्धमान के कालना में किसान शिबू नंदी ने आत्महत्या कर ली. उसने आरोप लगाया कि नोटबंदी के कारण वह मजदूरों को भुगतान नहीं कर पा रहा था. किसान आदिवासी था. नोटबंदी के कारण 68 लोगों की मौत हो चुकी है. हर जिंदगी अनमोल है.’’

और पढ़े -   कानून से ऊपर नहीं गौरक्षक, जो लोगों को बेरहमी से मार रहे है: केंद्रीय मंत्री अठावले

इसके साथ ही उन्होंने 2000 रुपए के नए नोट में रॉयल बंगाल टाइगर मौजूद नहीं होने पर कहा, ‘हर कोई सुंदरवन और रॉयल बंगाल टाइगर के बारे में जानता है. 2000 रुपए के नए नोट में बंगाल टाइगर नजर नहीं आ रहा है. इस नए नोट में हाथी है. मोदी सरकार का कहना है कि हाथी राष्ट्रीय विरासत है जबकि राष्ट्रीय पशु से उन्हें कोई मतलब नहीं है.’

और पढ़े -   'आप' विधायक पर चुनाव प्रचार के दौरान दंगा फैलाने और मारपीट करने के आरोप में चलेगा मुकदमा

ममता ने आगे कहा कि ‘वे वही कर रहे हैं जो उन्हें पसंद है. वे कहते हैं कि हाथी हमारी राष्टीय विरासत है. ठीक है, हमें इस बात से कोई समस्या नहीं है लेकिन रॉयल बंगाल टाइगर क्यों नहीं है?” उन्होंने कहा, रॉयल बंगाल टाइगर को हटा दिया है, यहां तक कि BRICS के प्रतीक को कमल में तब्दील कर दिया है. सरकार अपनी मनमर्जी के हिसाब से सब कुछ कर रही है.

और पढ़े -   सहारनपुर दौरे से पहले बोली मायवती - अगर मुझे कुछ होता है तो सिर्फ बीजेपी जिम्मेदार

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE