असम: पूरी दुनिया में अपने इत्तरों के लिए मश्हूर असम के बदरुद्दीन अजमल के परिवार का बिज़नेस चाहे हज़ारों करोड का हो लेकिन इस बिज़नेस के इलावा भी बहुत कुछ है जो बदरुद्दीन को खास बनाता है। चाहे और कोई इस बात को माने या ना माने लेकिन खुद बदरुद्दीन तो इस बात को मानते और कहते हैं कि उनके सपोर्ट के बिना असम में कोई सरकार नहीं बना सकता।

और पढ़े -   नायडू के बयान पर भड़के केजरीवाल, कहा - अमीरों की कर्जमाफी फैशन नजर नहीं आती

Badruddin-Ajmal

बदरुद्दीन जोकि आल इंडिया यूनाइटेड डेमोक्रेटिक फ्रंट के संस्थापक और अद्यक्ष हैं का कहना है कि हम यह नहीं कह सकते कि आने वाले चुनावों में हम कितनी सीटें जीतेंगे लेकिन इतना जरूर कह सकते हैं कि हमारे सपोर्ट के बिना सरकार बनाने की कोशिश कामयाब हो ही नहीं सकती। उनकी पार्टी का असम के मुस्लिम समुदाय के लोगों का काफी नाम है और असम की कुल जनसँख्या का करीबन ३४% हिस्सा मुसलामानों का है।

और पढ़े -   बीजेपी ने दलित वोट बैंक के लिए 'कोविंद' का नाम किया घोषित, नही करेंगे समर्थन: शिवसेना

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE