अयोध्या विवाद पर सुलह समझौते के दावों की पोल खोलते हुए बीजेपी नेता सुब्रमण्यन स्वामी ने साफ़ कर दिया कि अयोध्या में बाबरी मस्जिद नहीं बनेगी बल्कि मुस्लिम समुदाय को मस्जिद के लिए दूसरी जगह जमीन दी जायेगी.

स्वामी ने कहा, ‘मस्जिद तो कहीं भी बनाई जा सकती है, यहां नमाज पढ़ा जाता है. सऊदी अरब में मस्जिदों को तोड़ा गया है और शिफ्ट भी किया गया है. ऐसे में भारत में भी बाबरी मस्जिद को आंबेडकर नगर जिले की सीमा पर शिफ्ट किया जाएगा, जहां बड़ी संख्या में मुस्लिम आबादी रहती है.’

उन्होंने आगे कहा, ‘यहां 40 हजार मंदिरों को तोड़ा गया. हम सभी के लिए नहीं कह रहे हैं. हम केवल तीन की बात कह रहे हैं- मथुरा में कृष्ण का, अयोध्या में राम का और वाराणसी में काशीविश्वनाथ का मंदिर’.

ध्यान रहे स्वामी का बयान ऐसे वक्त सामने आया है, जब आर्ट ऑफ लिविंग के संस्थापक श्री श्री रविशंकर इस विवाद के हल के लिए अयोध्या का दौरा कर दोनों पक्षों के लोगों से मिलने वाले है.

हालाँकि आल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड सहित सुन्नी वक्फ बोर्ड और बाबरी मस्जिद एक्शन कमेटी के सदस्य रविशंकर के इस कदम को फ़ालतू करार दे चुके है.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

अभी पढ़ी जा रही ख़बरें

SHARE