नई दिल्ली यूपी के नगर विकास मंत्री आजम खान ने बीजेपी नेता सुब्रमण्यन स्वामी तीन मंदिर के बददले 39997 मस्जिद के ऑफर पर पलटवार किया है। एसपी नेता ने कहा है कि हमें स्वामी की कृपा की जरूरत नहीं है। वो सभी मस्जिदें ले लें और बदले में नमाज पढ़ें। इबादतगाह में उनके नमाज पढ़ने पर कोई पाबंदी नहीं है। हम उन्हें दावत देना चाहते हैं वो मस्जिद और मस्जिद के मकसद को समझें और मस्जिद वाले बनें।’

और पढ़े -   सपा नेता माविया अली का बयान, पहले हम मुस्लमान , फिर भारतीय

रविवार को बीजेपी नेता सुब्रमण्यन स्वामी ने ट्वीट किया था, ‘हिंदू भगवान कृष्ण का पैकेज मुसलमानों को ऑफर करते हैं। वो हमें तीन मंदिर दे दें और 39,997 मस्जिदें ले लें। उम्मीद करता हूं कि मुस्लिम नेता दुर्योधन नहीं बनेंगें।’ सुब्रमण्यन स्वामी के इस ऑफर के जवाब में आजम खान ने उनको सभी मस्जिदें लेकर नमाज पढ़ने की दावत दे दी है।

दिल्ली यूनिवर्सिटी में राम जन्मभूमि पर सेमिनार पर हुए विवाद में स्वामी ने विरोधियों पर हमला करते हुए उन्हें असहिष्णु करार दिया था। उन्होंने कहा था कि अयोध्या में राम मंदिर निर्माण को राजनीतिक रंग नहीं देना चाहिए। स्वामी ने यह भी कहा था कि इस साल के अंत तक राम मंदिर निर्माण का काम शुरू हो जाएगा। इसके बाद काशी और मथुरा में भी मंदिर निर्माण होगा।

और पढ़े -   नीतीश की शरद यादव को दो टूक: गठबंधन को अपनाए या अपना रास्ता खुद देखे

हालांकि स्वामी के दावे पर आजम खान ने कहा कि यूपी में होने वाले विधानसभा चुनावों के मद्देनजर बीजेपी जहर घोलने का काम कर रही है। यूपी हिंदुस्तान का दिल है। पिछले ढाई दशक से इस दिल पर अभी तक कोई कब्जा नहीं कर सका है। उन्होंने कहा, ‘बीजेपी ने दिल्ली और बिहार चुनाव से सबक नहीं लिया। यूपी में उनकी दुर्गति होना तय है। जैसे दिल्ली से बीजेपी का सूपड़ा साफ हो गया वैसे ही गुजरात से भी एक दिन हो जाएगा।’ साभार: नवभारत टाइम्स

और पढ़े -   बीजेपी से गठबंधन के विरोध की मिली सज़ा, नीतीश ने अली अनवर को संसदीय बोर्ड से हटाया

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE