कानपुर | उत्तर प्रदेश चुनावो में AIMIM के राष्ट्रिय अध्यक्ष असुदुद्दीन ओवैसी आजकल खूब गरज रहे है. वो बीजेपी से लेकर सपा-कांग्रेस के खिलाफ खूब भड़ास निकाल रहे है. कानपुर में एक रैली को संबोधित करते हुए उन्होंने अखिलेश और कांग्रेस पर सीधा हमला करते हुए कहा की धर्म निरपेक्षता के दलाल , मुसलमानों को पहले जनसंघ का और अब मोदी का डर दिखाकर इस्तेमाल कर रहे है.

कानपुर में अपनी पार्टी के प्रत्याशी रबीउल्लाह मंसूरी के समर्थन में एक रैली को संबोधित करते हुए ओवैसी ने कहा की उत्तर प्रदेश में करीब 19 फीसदी मुस्लिम है लेकिन अखिलेश की सरकार आने के बाद 9 फीसदी यादवो का विकास किया गया. अखिलेश के नारे ‘काम बोलता है’ पर उन्होंने कहा की हाँ अखिलेश का काम बोलता है, मुजफ्फरनगर में दंगे हुए, मुसलमानों की मौत हुई, उन पर जुल्म हुए.

ओवैसी ने गुजरात दंगो से मुजफ्फरनगर दंगो की तुलना करते हुए कहा की अगर मोदी गुजरात दंगो के लिए दोषी है तो अखिलेश भी मुजफ्फरनगर दंगो के लिए दोषी है. ये धर्मनिरपेक्षता के दलाल , मुसलमानों का केवल सियासी फायदा उठाना जानते है. इनको मुसलमानों की वोट चाहिए. अब मुस्लमान इन पार्टी को वोट नही देंगे बल्कि हम उनसे कहेंगे की वह और उनके वोटर उनकी पार्टी के उम्मीदवार को वोट दे.

मोदी के सबका साथ सबका विकास पर ओवैसी ने कहा की उनका एजेंडा है हिंदुत्व का साथ और अपने साथियों का विकास. ओवैसी ने कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा की पहले मुसलमानों के दादा को जनसंघ का डर दिखाकर वोट ली, पिता जी को बीजेपी का डर दिखाकर वोट ली और अब मोदी का डर दिखाकर वोट बटोरना चाहते है. ये लोग चुनाव के समय एक दाढ़ी और टोपी वाले को माला पहनकर मंच पर बैठा देते है जो मंच से अपील करता है की फिरकापरस्त ताकतों को शिकस्त देने के लिए इन लोगो को वोट दो.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

अभी पढ़ी जा रही ख़बरें

SHARE