नई दिल्ली।  केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने पद्म पुरस्कारों को लेकर एक ऐसा बयान दिया है जिसपर विवाद हो सकता है। उन्होंने कहा कि पद्म पुरस्कारों के लिए इतनी मारामारी होती है कि तय करना मुश्किल हो जाता है। उन्होंने दावा किया कि मशहूर अभिनेत्री आशा पारेख ने उनके घर आकर पद्म भूषण की मांग की थी।

12 मंजिल चढ़कर पद्म भूषण मांगने आई थी आशा पारेख: गडकरी

गडकरी ने एक वाक्ये का जिक्र करते हुए कहा कि आशा पारेख पद्मभूषण पाने की उम्मीद में मुंबई में मेरे घर पहुंच गई थी। लिफ्ट खराब थी फिर भी वह 12 मंजिलें चढ़कर आ गई थीं। उन्होंने कहा मुझे बड़ा खराब लगा था।

और पढ़े -   राजनाथ सिंह: रोहिंग्याओं को वापस लेने के लिए म्यांमार तैयार, अब आपत्ति क्यों ?

गडकरी ने दावा किया कि आशा पारेख ने उनसे कहा था कि मुझे पद्मश्री मिला है, जबकि भारतीय सिनेमा में मेरे योगदान के लिए मुझे पद्मभूषण मिलना चाहिए था।

हालांकि आशा पारेख ने नितिन गडकरी के इस बयान का खंडन करते हुए कहा कि मैंने पद्म भूषण पुरस्कार के लिए कभी लॉबिंग नहीं की। आशा पारेख ने कहा कि इससे ज्यादा और कुछ कहना नहीं चाहती। साभार: आई बी एन खबर

और पढ़े -   रोहिंग्या शरणार्थियों को भी देश रहने का है मौलिक अधिकार: ओवैसी

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE