bjp-rally-in-dehradun_bd8e4f04-a98d-11e6-9005-31625660f15f

लखनऊ | बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह आज उत्तर प्रदेश में विपक्ष पर खूब बरसे. उन्होंने विपक्ष पर तंज कसते हुए कहा की जैसे बाढ़ आने पर चूहे, बिल्ली ,सांप और नेवला जान बचाने के लिए एक ही पेड़ पर चढ़ जाते है , उसी तरह सारा विपक्ष अपनी दुश्मनी भूल, नरेन्द्र रूपी बाढ़ से बचने के लिए एक हो गया है.

लखनऊ में बीजेपी के कार्यक्रम ‘ यूपी की मन की बात’ में बोलते हुए अमित शाह ने कालाधन और सर्जिकल स्ट्राइक पर खुलकर अपनी सरकार की पीठ थपथपाई. अमित शाह ने कहा की मोदी जी की सरकार बनते हुए उन्होंने सबसे पहला कदम कालेधन के ऊपर ही उठाया था. हमारी सरकार ने कालेधन के खिलाफ एसआईटी गठित की थी. आपको याद होगा कांग्रेस ने सरकार बनते ही आतंकवाद रोधी कानून पोटा को समाप्त कर दिया था.

और पढ़े -   कोविंद को राष्ट्रपति बनाने के लिए दलित प्रेम नहीं बल्कि आरएसएस से जुड़ा होना है: मायावती

सर्जिकल स्ट्राइक का श्रेय लेते हुए अमित शाह ने कहा की जब उरी में हमारे जवानों के ऊपर हमला हुआ तब हमने उनको घर के अंदर घुसकर ठोका, इससे हमारी राजनितिक इच्छाशक्ति का पता चलता है. अमित शाह के इस बयान से साफ़ है की बीजेपी , उत्तर प्रदेश के चुनावो में सर्जिकल स्ट्राइक के मुद्दे को खूब भुनाने वाली है.

और पढ़े -   कांग्रेस ने उठाया कोविंद को लेकर सवाल - आखिर मुस्लिमों और ईसाईयों का विरोध करने वाले का समर्थन क्यों

नोट बंदी पर बोलते हुए अमित शाह ने कहा की मैं मानता हूँ इससे परेशानिया हो रही है लेकिन जैसे ऑपरेशन के बाद थोड़ी तकलीफ होती है और बाद में सब ठीक हो जाता है ऐसे ही नोट बंदी से हो रही परेशानिया भी कुछ दिन में खत्म हो जाएगी उसके बाद आपके सपनो का भारत आपको मिलेगा.

नोट बंदी पर विपक्ष के हमले का जवाब देते हुए अमित शाह ने कहा की पहले यही विपक्ष हमसे रोज पूछता था की काले धन पर आप की कार्यवाही कर रहे हो, अब जब कार्यवाही कर दी है तो कहते है की अपना फैसला वापिस लो. उत्तर प्रदेश में बीजेपी की सरकार बनाने का आह्वान करते हुए अमित शाह ने कहा की अगर यूपी में हमारी सरकार आती है तो केंद्र और राज्य सरकार के बीच बेहतर तालमेल होगा और इससे उत्तर प्रदेश का अधिक विकास हो सकेगा.

और पढ़े -   रजनीकांत की बीजेपी में एंट्री को लेकर उड़ी स्वामी की नींद, लगाई उटपटांग बयानों की लाइन

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE