लखनऊ | उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव आज अपने पिता मुलायम सिंह यादव से मिलने उनके आवास पहुंचे. यहाँ दोनों के बीच करीद दो घंटे तक बातचीत हुई. खबर है की मुलायम ने अखिलेश को विश्वास दिलाया है की चुनावो में बहुतमत मिलने पर वो ही पार्टी की तरफ से मुख्यमंत्री पद के दावेदार होंगे. मुलायम ने अखिलेश से चुनाव आयोग में दिया गया पत्र वापिस लेने के लिए भी कहा है.

और पढ़े -   कर्ज माफी पर शिवसेना की धमकी - योजना ठीक से लागू नहीं हुई तो बीजेपी का फोड़ेंगे भांडा

सोमवार को मुलायम सिंह यादव चुनाव आयोग के दफ्तर पहुंचे और पार्टी पर अपना दावा पेश किया. मुलायम ने चुनाव आयोग से कहा की चूँकि रामगोपाल यादव को पार्टी से निष्काषित कर दिया गया था इसलिए उन्हें राष्ट्रिय अधिवेशन बुलाने का कोई अधिकार नही था. इसलिए राष्ट्रिय अधिवेशन और उसमे लिए गए फैसले अवैध है. चुनाव आयोग से बाहर निकलकर मुलायम सिंह ने अखिलेश के पक्ष में ब्यान दिया.

मुलायम सिंह ने कहा की मेरे और अखिलेश के बीच में कोई मतभेद नही है. केवल एक आदमी अखिलेश को बहका रहा है. हमारी तरफ से अखिलेश ही मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार है. अभी पार्टी में थोडा मतभेद है और जल्द ही इसे भी सुलझा लिया जाएगा. जहाँ तक पार्टी सिंबल की बात है, यह अब चुनाव आयोग को तय करना है की हमें कौन सा सिंबल दिया जाएगा.

और पढ़े -   बिहार सरकार में मंत्री ने सीबीआई को बताया कुत्ता कहा, लालू को फ़साने को हो रही कोशिश

पिता की तरफ से मुख्यमंरी पद का दावेदार बताने पर आज अखिलेश उनसे मिलने उनके आवास पहुंचे. दोनों पिता पुत्र के बीच करीब दो घंटे बातचीत हुई. खबर है की मुलायम ने अखिलेश से चुनाव आयोग में दिए गए पत्र को वापिस लेने के लिए कहा है. इसके अलावा अखिलेश को यह भी बताया गया की पार्टी के राष्ट्रिय अध्यक्ष वो (मुलायम ) ही रहेगे. अब गेंद अखिलेश के पाले में है. उम्मीद है जल्द ही इस मामले का भी पटाक्षेप हो जाएगा.

और पढ़े -   बीजेपी के समर्थक अल्पसंख्यकों और दलितों पर अत्याचार के है समर्थक: सीपीएम

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE