इलाहबाद | समाजवादी पार्टी के कद्दावर नेता और सपा सरकार में शहरी विकास मंत्री आजम खान और विवादों का चोली दामन का साथ रहा है. उनके बयान अक्सर उनके और उनकी पार्टी के लिए मुसीबत पैदा करने वाले रहे है. फ़िलहाल उत्तर प्रदेश में चुनाव चल रहे है लेकिन उनक बयान अभी बदस्तूर जारी है. चुनाव आयोग की परवाह किये बिना वो हर जनसभा में कुछ ऐसा बोल देते है जिससे विवाद पैदा हो जाता है.

इलाहाबाद में एक रैली को संबोधित करते हुए उन्होंने मुसलमानों पर कुछ ऐसी टिप्पणी कर दी जो विवाद खड़ा कर सकती है. उन्होंने रैली के दौरान कहा की मुसलमान इसलिए ज्यादा बच्चे पैदा करता है क्योकि उसके पास कुछ काम नही है. अगर मुसलमानों के पास रोजगार हो तो वो भी ज्यादा बच्चे पैदा न करे. इसके अलावा उन्होंने मोदी के अच्छे दिन और 15 लाख वाले वादे पर भी तंज कसा.

शुक्रवार को इलाहबाद में रैली को संबोधित करते हुए आजम ने कहा की हमारे यहाँ आबादी ज्यादा होती है और काम कम है. इसलिए बच्चे ज्यादा पैदा हो जाते है. मुसलमान खाली बैठेगा तो बच्चे ही पैदा करेगा. अगर बादशाह (मोदी) मुसलमानों को काम देता तो बच्चे भी कम पैदा होते. हिन्दुओ इसलिए ज्यादा बच्चे पैदा नही करते क्योकि उनके पास रोजगार है.

मोदी के फ़कीर वाले बयान पर आजम खान ने कहा की मोदी जी खुद को फ़कीर कहते है लेकिन उन्होंने पिछले 2 साल में 80 करोड़ रूपए कपड़ो पर खर्च किये है. फ़क़ीर इतने महंगे कपडे पहनता है? जिस देश का प्रधानमंत्री इतने महंगे कपडे पहनता है वो हिन्दुस्तान कैसा होगा? आजम खान ने अमित शाह पर भी तंज कसा. उन्होंने कहा,’ बादशाह ने हसीन सपने दिखाए, लफ्फाजी की, लेकिन बड़े सर वाले ने कहा की राजा ने मजाक किया था’.

आजम ने बड़ा दावा करते हुए कहा की एक बार हमें गद्दी देकर देखो , हम सबके खातो में 25-25 लाख रूपए डालेंगे. इस देश में इतना पैसा है की 25-25 लाख देने के बावजूद देश सोने की चिड़िया बना रहेगा. चुनाव आयोग पर आजम ने कहा की मुझे किसी का डर नही है. मैं फिर भी बोलता रहूँगा.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

अभी पढ़ी जा रही ख़बरें

SHARE