रामपुर | समाजवादी पार्टी के वरिष्ठ नेता और पूर्व की राज्य सरकार में मंत्री रहे आजम खान अक्सर अपने विवादित बयानों के लिए चर्चा में रहते है. लेकिन इस बार आजम खान ने जो कहा वो बेहद ही निंदनीय है. उन्होंने सेना पर बलात्कार के मामले में शामिल होने का आरोप लगा हंगामा खड़ा कर दिया. उनका यह बयान इतना शमर्नाक है की उनकी खुद की पार्टी उनसे किनारा करता दिख रही है. यही नही उनको ऐसे बयानो से बचने की भी सलाह दी गयी है.

रामपुर में एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए आजम खान ने कहा की फ़ौज के साथ जो हो रहा है वो हिंदुस्तान की असल जिन्दगी का पर्दा उठाती है. कही लोग फ़ौज या बेगुनाहों का सर उतारते है तो कही कोई किसी का हाथ काटकर ले जाता है. लेकिन इस बार दहशतगर्द फ़ौज के प्राइवेट पार्ट काटकर साथ ले गए. उन्होंने हाथो से भी शिकायत नही थी, पैरो से भी नही थी. जिस्म के जिस हिस्से से शिकायत थी उसे काटकर साथ ले गये.

इस बेहद ही घटिया बयान के बाद भी आजम खान नही रुके. उन्होंने आगे कहा की यह देश के लिए इतना बड़ा सन्देश है की जिस पर पुरे देश को शर्मिंदा होना चाहिए. हमें सोचना चाहिए की दुनिया को क्या मुंह दिखायेंगे. जैसे ही आजम खान का यह बयान मीडिया में आया तो हंगामा मच गया. मीडिया के अलावा कई नेताओं ने भी उनके इस बयान की घोर निंदा की. यही नही उनकी खुद की पार्टी के नेता आजम के बयान पर बंगले झांकते दिखे.

सपा प्रवक्ता दीपक मिश्रा ने आजम खान के बयान पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा की उन्हें ऐसे बयानों से बचना चाहिए. उन्होने आगे कहा की ऐसे बयानों की वजह से सेना के मनोबल पर असर पड़ता है. इसलिए आजम जैसे बड़े नेताओं को इस तरह के बयान नही देने चाहिए. यह पहला मौका नही है जब आजम खान ने सेना पर निशाना साधा हो. इससे पहले भी वो ऐसे बयान देते रहे है. लेकिन हर बार वो यह कहकर पल्ला झाड लेते है की उनके बयान का गलत मतलब निकाला गया है.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

अभी पढ़ी जा रही ख़बरें

SHARE