kashi vidyapeeth election 620x400

वाराणसी | उत्तर प्रदेश में बीजेपी ने भले ही प्रचंड जीत हासिल की हो लेकिन हाल ही में हुए कई चुनावो से लग रहा है की प्रदेश में योगी की चमक फीकी होने लगी है. यही वजह है की जिला परिषद से लेकर छात्र संघ चुनावो में बीजेपी को करारी हार का सामना करना पड़ रहा है. छात्र संघ चुनावो का तो यह हाल है की बीजेपी की छात्र इकाई ABVP देश की पांच बड़ी यूनिवर्सिटी के चुनाव हार चुकी है.

इनमे दिल्ली यूनिवर्सिटी , जेएनयु, इलाहाबाद यूनिवर्सिटी और हैदराबाद यूनिवर्सिटी जैसे बड़े नाम शामिल है. अब काशी विधापीठ के चुनावो में भी ABVP ने यही प्रदर्शन दोहराया है. यहाँ हुए चुनावो में ABVP एक भी सीट पर जीत दर्ज नही कर पायी. इन चुनावो में समाजवादी पार्टी की छात्र इकाई का प्रदर्शन जोरदार रहा और उन्होंने चार में से दो सीटो पर कब्ज़ा किया. जबकि दो सीट पर भी सपा के बागी उम्मीदवारो ने निर्दलीय के तौर पर जीत दर्ज की.

अध्यक्ष पद पर सपा छात्र संघ से बागी हुए उम्मीदवार नेता राहुल दुबे ने जीत दर्ज की. राहुल ने ABVP के वाल्मीकि उपाध्याय को हराया. जबकि उपाध्यक्ष पद पर समाजवादी के रोशन कुमार ने जीत दर्ज की. महामंत्री के पद पर अनिल यादव ने जीत दर्ज की. अनिल भी समाजवादी छात्र संघ से बागी होकर निर्दलीय चुनाव लडे थे. वाही चौथी सीट पर भी समाजवादी के रवि प्रताप सिंह जीत हासिल करने में कामयाब रहे.

यह परिणाम बीजेपी के लिए बड़ा झटका साबित हो सकता है. क्योकि कुछ दिनों बाद प्रदेश में निकाय के चुनाव होने है. इन चुनावो में सभी विपक्षी दलों ने अपनी पूरी ताकत झोंक दी है. यही नही बसपा भी पहली बार अपने सिंबल पर निकाय चुनाव लड़ने जा रही है. विधानसभा चुनावो के बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की यह सबसे बड़ी परीक्षा होगी. इसलिए योगी इन चुनावो में हर हाल में जीत हासिल करना चाहेंगे.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

अभी पढ़ी जा रही ख़बरें

SHARE