भोपाल | मध्यप्रदेश में किसान पिछले दस दिनों से अपनी विभिन्न मांगो को लेकर आंदोलनरत है. इसी बीच यह आन्दोलन हिंसा की चपेट में आ गया जिसमे 5 किसानो की मौत हो गयी. पुलिस गोलीबारी में किसानो के मारे जाने के बाद मंदसौर और रतलाम जिले हिंसा की चपेट में आ गए. किसानो ने कई गाडियों और सरकार संपत्ति में आग लगा दी. शांति बहाली होता न देख मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने अनिश्चितकालीन उपवास पर बैठ गए. हालाँकि कांग्रेस ने इसे नौटंकी करार दिया.

इसी बीच बीजेपी के वरिष्ठ नेता और राष्ट्रिय महासचिव कैलास विजयवर्गीय ने बेहद ही संवेदनहीन बयान देते हुए कहा की 5 किसानो की मौत हो जाना कोई बड़ी बात नही है. अपने विवादित बयानों के लिए हमेशा सुर्खियों में रहने वाले विजयवर्गीय ने प्रदेश में फैली हिंसा के लिए कांग्रेस को जिम्मेदार ठहराते हुए कहा की मध्य प्रदेश काफी बड़ा राज्य है , अगर तीन चार जिलो में ऐसी घटना घटित भी हो जाये तो कोई बड़ी बात नही है.

टाइम्स नाउ से बात करते हुए विजयवर्गीय ने ये बाते कही. इस दौरान उन्होने कहा की अधिकांश किसान संगठन मुक्यमंत्री और सरकार के साथ है. उन्होंने सरकार की किसान नीतियों और नियत की प्रशंसा की है. मैं खुद उनसे मिलकर आ रहा हूँ. हालाँकि मैं मानता हूँ की निचले स्तर पर किसानो तक सरकारी योजनाओ का लाभ बड़ी मुश्किल से पहुँचता है, इसी वजह से उनके अन्दर नाराजगी है.

पत्रकार के यह पूछने पर की अगर किसान तारीफ कर रहे है तो फिर प्रदेश में इतने बड़े पैमाने पर आन्दोलन और हिंसा क्यों हो रही है? इस पर विजयवर्गीय ने कहा की यह आपको बड़ा लग रहा है. मध्य प्रदेश बहुत बड़ा राज्य है, यदि 3-4 जिलो में घटना घट जाए तो यह कोई बड़ी बात नही है. इसी बीच पत्रकार ने उनको टोकते हुए कहा की 5 किसानो की मौत हो गयी और आप इसे बड़ी बात नही मानते? इस पर विजयवर्गीय ने उल्टा पत्रकार से सवाल पुछा की आपको पता है एमपी में कितने जिले है? एक जिले की घटना के लिए आपको पुरे राज्य को जिम्मेदार नही ठहरा सकते.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

अभी पढ़ी जा रही ख़बरें

SHARE