शुरूआत में जो महज लोकसभा चुनावों के मद्देनज़र नरेंद्र मोदी की पीएम पद की पुख्ता दावेदारी के लिए गुजरात की सीमा के बाहर किया गया एक इवेंट मैनेजमेंट का प्रयोग भर था, वही अब बीजेपी के लिए एक आजमाया हुआ ऐसा व्यंजन बन गया है जिसके परोसे जाने पर वाहवाही की पूरी गारंटी है। ‘मोदी-मोदी’ के गर्मागर्म नारे लगाती जनता और खचाखच भरा मैदान-सभागार, देश से कहीं ज्यादा यह दृश्य विदेशी जमीन पर कारगर साबित हुआ।

पिछले लोकसभा चुनाव में गुजरात से गाड़ियों और रेल में भरकर आए बीजेपी कार्यकर्ताओं ने पीएम मोदी के संसदीय चुनाव क्षेत्र वाराणसी की पतली-संकरी गलियों को नापकर बीजेपी और मोदी का खूब प्रचार किया। घर-घर जाकर आम लोगों से बातचीत कर मोदी को जीत दिलाने का श्रेय गुजरात के जिन इवेंट मैनेजर्स को जाता है, उन्होंने ही मेडिसन स्क्वेयर के पलों को जादुई बनाने में अपनी पूरी मेहनत झोंक दी।

यह कहानी सिर्फ वाराणसी या मेडिसन स्क्वेयर पर जाकर ख़त्म नहीं हो जाती है। हाल ही में संपन्न पीएम मोदी के चीन दौरे को सफल और यादगार बनाने का श्रेय भी एक गुजराती इवेंट मैनेजमेंट कंपनी को ही जाता है। एक ओर जहां सूरत के कई हीरा व्यापारियों के व्यापार का मजबूत केंद्र चीन में है, वहीं काफी बड़ी तादाद में बीजेपी कार्यकर्ता हॉन्ग कॉन्ग भी गए ताकि वहां रहने वाले गुजराती समुदाय के लोगों को पीएम मोदी की जनसभा के लिए इकट्ठा किया जा सके।

बीजेपी के फॉरन ऐंड ओवरसीज़ फ्रेंड्स सेल के प्रमुख, विजय चौथाईवाले ने बातचीत के दौरान कहा कि यह कहना ग़लत होगा कि सूरत के लोगों ने शंघाई के समारोह में सीधे-सीधे जाकर शिरकत की। उनका कहना है कि गुजराती मूल के कई भारतीय हॉन्ग कॉन्ग में रहते हैं। उन्हीं लोगों को पीएम मोदी के कार्यक्रम के लिए जमा किया गया था। सूरत के एक बीजेपी विधायक के साथ हॉन्ग कॉन्ग जाकर चौथाईवाले ने ही भीड़ को जमा करने की कवायद पूरी की थी।

चौथाईवाले हॉन्ग कॉन्ग में कुछ ही दिन ठहरे थे, लेकिन सूरत के मजुरा विधानक्षेत्र से बीजेपी के विधायक हर्ष सांघवी ने भी उनका पूरा-पूरा साथ दिया था। हालांकि चौथाईवाले खुद ही स्वीकार करते हैं कि शंघाई में पीएम मोदी के कार्यक्रम में शामिल होनेवाले 5,000 लोगों में से कुछ सौ लोग ही हॉन्ग कॉन्ग से आए थे।

नाम न छापने की शर्त पर बीजेपी के दो वरिष्ठ सदस्यों ने यह माना कि गुजरात से बाहर होने वाले पीएम मोदी के कार्यक्रमों को संयोजित और संगठित करने के लिए गुजरात बीजेपी कार्यकर्ताओं को बुलाए जाने संबंधी खबरों में पूरी सच्चाई है।

एक सदस्य, जो पूरी प्रक्रिया से वाकिफ़ हैं, ने बताया कि गुजरात से बीजेपी कार्यकर्ताओं को बुलाकर उन्हें पीएम मोदी के कार्यक्रमों के दौरान सकारात्मक माहौल बनाए रखने की जिम्मेदारी दी जाती है। बीजेपी के एक वरिष्ठ सदस्य ने बातचीत में बताया कि यह सब लोकसभा चुनाव के समय वाराणसी से शुरू हुआ था, लेकिन अब गुजरात बीजेपी कार्यकर्ताओं को अक्सर ही राज्य के बाहर जाकर ऐसे कार्यक्रमों में शरीक होने के लिए कहा जाता है। एक और सदस्य ने बताया कि इस बाबत फैसले आलाकमान द्वारा लिए जाते हैं और जरूरी सभी निर्देश सीधे संबंधित व्यक्ति को ही दिए जाते हैं।


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें