shirke_fbsport_647_100616032342

नई दिल्ली | दुनिया के सबसे अमीर क्रिकेट बोर्ड BCCI को आज सुप्रीम कोर्ट से बड़ा झटका लगा है. सुप्रीम कोर्ट ने लोढ़ा समिति से बोर्ड में एक स्वतंत्र ऑडिटर नियुक्त करने का आदेश दिया है. इसके अलावा कोर्ट ने बोर्ड अध्यक्ष अनुराग ठाकुर को 3 दिसम्बर तक कोर्ट में हलफनामा दाखिल करने का भी आदेश दिया है.

शुक्रवार को सुप्रीम कोर्ट ने BCCI मामले पर सुनवाई करते हुए फैसला सुनाया की लोढ़ा समिति बोर्ड में एक स्वंतंत्र ऑडिटर नियुक्त करेगी जो बोर्ड के सारे कॉन्ट्रैक्ट की जांच करेगी एवं पूर्वती दिए गए कॉन्ट्रैक्ट की भी जांच करेगी. अब कोई भी कॉन्ट्रैक्ट बिना ऑडिटर की सलाह लिए नही दिया जा सकेगा. सभी कॉन्ट्रैक्ट ऑडिटर की निगरानी में दिए जायेंगे.

कोर्ट ने बोर्ड प्रमुख अनुराग ठाकुर से 3 दिसम्बर तक अदालत में हलफनामा दाखिल करने का आदेश दिया. अनुराग ठाकुर बोर्ड में लोढ़ा समिति की सिफारिशे लागु करने का हलफनामा अदालत में जमा करेंगे. इसके अलावा वो लोढ़ा समिति को यह भी बताएँगे की बोर्ड में रिफार्म कैसे लागू किये जायेंगे. इसके अलावा कोर्ट ने बोर्ड के राज्य क्रिकेट बोर्ड को पेमेंट करने पर भी रोक लगा दी है.

कोर्ट ने अपने आदेश में कहा की जब तक अगली सुनवाई नही हो जाती बोर्ड किसी भी राज्य बोर्ड को पेमेंट नही करेगा. दरअसल बोर्ड ने दलील दी थी की सिफारिशे लागु करने में कुछ राज्य बोर्ड आनाकानी कर रहे है. हमें सिफारिशे लागु करने के लिए राज्य बोर्ड की 2/3 वोट चाहिए. इस पर कोर्ट ने कहा की जो राज्य बोर्ड इन सिफ़ारिशो को मानने में आनाकानी कर रहा है बोर्ड उनके पेमेंट रोक दे.

दरअसल 18 जुलाई को सुप्रीम कोर्ट ने बोर्ड को आदेश दिया था की वो 6 महीने के अन्दर लोढ़ा पैनल की सिफारिशे लागु करे और कोर्ट में इस लागु करने का हलफनामा भी जमा करे. इसके अलावा कोर्ट ने सभी राज्य बोर्ड को भी लोढ़ा समिति की सिफारिशे लागु करने का आदेश दिया था. लेकिन BCCI इन्हें लागु करने में आनाकानी कर रहा था. जिस का संज्ञान लेते हुए लोढ़ा समिति ने सुप्रीम कोर्ट से शिकायत की.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment

Related Posts

loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें
SHARE