भारत की राजधानी दिल्ली से मिले हुए राज्य हरियाणा में दो दिनों से जारी सांप्रदायिक दंगों ने अब भीषण रुप ले लिया है।

दिल्ली से 37 किलोमीटर दूर स्थित फरीदाबाद के इटाली गांव में एक निर्माणधीन मस्जिद को एक समुदाय विशेष ने आग लगा दी और उसके बाद में मुसलमानों की आवासीय आबादी पर हमला कर उनके घरों और संपत्तियों को भी आग के हवाले कर दिया।

दी इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के अनुसार इटाली गांव में 5 साल पहले मस्जिद और मंदिर का एक साथ निर्माण किए जा रहा था, लेकिन भूमि के विवाद के कारण मस्जिद का निर्माण कार्य रोक दिया गया था, लेकिन इसी महीने अदालत ने मस्जिद के निर्माण की फिर से अनुमति दे दी थी और 5 वर्षों बाद फिर से मस्जिद का निर्माण शुरू किया गया था।

भारत के उर्दू दैनिक समाचार पत्र सियासत के अनुसार इस पूरी घटना में जो हमलावर थे उनका संबंध कट्टरपंथी हिंदू संस्था राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ (आरएसएस) से था।

 

इटाली गांव में मुसलमानों के प्रमुख मुहम्मद अली ने बताया कि जाट समुदाय के लोग चाहते थे कि यहां मस्जिद का निर्माण न हो क्योंकि वह साथ वाले भूखंड पर मंदिर निर्माण करना चाहते थे। मुहम्मद अली ने बताया कि विवाद बढ़ने के बाद हम लोगों ने अदालत का दरवाज़ा खटखटाया और फ़ैसला मस्जिद के पक्ष में आया, इसलिए हम लोगों ने मस्जिद के निर्माण का काम शुरू किया था।

इस समय इटाली गांव के हालात काफी तनावपूर्ण हैं, दो दिनों के भीतर मस्जिद के साथ साथ 20 घरों में भी आग लगा दी गयी है और 17 लोग घायल हैं जिन्में दो लोगों की हालत गंभीर बताई जा रही है।

फ़रीदाबाद के अतिरिक्त उपायुक्त अदिति धहिया के अनुसार स्थिति अभी भी तनावपूर्ण बनी हुई है, पर नियंत्रण में है, पुलिस बल को अधिक मात्रा में तैनात कर दिया गया है, उन्होंने बताया कि घर छोड़ कर चले गये लोगो को फिर से उनके घर वापस भेजा जा रहा है, लेकिन लोगों में अभी भी भय की स्थिति बनी हुई है।

दूसरी ओर इटाली गांव के पीड़ितों ने बताया कि पूरे मामले को भड़काने का काम राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के लोगों ने किया है और उन्हीं लोगों ने हमारे घरों में पुलिस की मौजूदगी में घुस कर लूट पाट की है, पीड़ितों ने बताया कि हम लगों को अभी भी आरएसएस के लोग धमकी दे रहे हैं, पुलिस से शिकायत के बावजूद कोई कार्यावाही नहीं हो रही है।

News Courtesy Iran Radio


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें