योग गुरु बाबा रामदेव द्वारा संचालित पतंजलि संस्थान और उसकी शाखाओं के प्रचार-प्रसार का अलीगढ़ में जिम्मा संभाल रहे ऋषि सारस्वत को कई साल से वेतन नहीं मिल रहा है। इसे लेकर ज्यादा शिकायत करने पर धमकियां मिल रही हैं।

हरिद्वार जाकर जानकारी करने पर उन्हें टहला दिया जा रहा है। इस सबसे परेशान ऋषि सारस्वत ने अब बाबा रामदेव सहित तीन के खिलाफ मुकदमा दर्ज करने के लिए तहरीर दी है।

और पढ़े -   हरियाणा के सोहना से अगुवा कर एक महिला के साथ गैंगरेप, बदहवास हालत में ग्रेटर नोयडा फेंककर फरार

गोंडा के गांव तारापुर निवासी ऋषि सारस्वत ने अधिवक्ता सरदार मुकेश सैनी के माध्यम से दिए गए नोटिस व एसओ गोंडा को दी गई तहरीर में कहा गया है कि देशभक्ति व राष्ट्रभक्ति के आवरण से अभिभूत होकर ऋषि ने पतंजलि संस्थान में वर्ष 2010 में सेवाएं देना शुरू कर दिया।

उसे जिले में संस्थान व उसकी शाखाओं के प्रचार-प्रसार का जिम्मा मिला और 5 हजार रुपये प्रतिमाह वेतन मिलना तय हुआ। इसके बाद से उसके कार्य से संस्थान को लाखों रुपये सालाना का मुनाफा हुआ।

और पढ़े -   बिहार के राज्यपाल और दलित चेहरा रामनाथ कोविंद होंगे बीजेपी के राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार, अमित शाह ने की घोषणा

मगर उसे आज तक वेतन नहीं मिला। इसके बाद वह कई मर्तबा हरिद्वार गया। अलीगढ़ आगमन पर बाबा से मिले। उसे यही जवाब मिलता रहा कि बाबा की सेवा में लगे रहो, लाभ मिलेगा। मगर आज तक उसे वेतन नहीं मिला।

कुल करीब दो लाख से अधिक का उसका वेतन अब तक बनता है, जो नहीं दिया गया है। ज्यादा शिकायतें करने पर उसे हरिद्वार स्थित संस्थान से धमकियां देकर भगा दिया गया।

और पढ़े -   पंजाब विधानसभा में जमकर हुआ हंगमा, आप विधायक की पगड़ी उतरी, दो की तबियत बिगड़ी

इस तहरीर में बाबा रामदेव, संस्थान से जुड़े राम भरत यादव, विपणन प्रमुख राकेश शर्मा को आरोपी बनाया गया है। एसओ का कहना है कि व्यस्तता के कारण वे थाने नहीं पहुंच पाए। तहरीर की बाबत उनको जानकारी नहीं है। थाने पहुंच कर इस मामले को देखेंगे।

साभार अमर उजाला


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE