नई दिल्ली | दिल्ली में पिछले एक हफ्ते से छाई धुंध , छटने के नाम नही ले रही है. हालत यह है की दिल्ली में स्कूलों को एक दिन के लिए बंद करना पड़ा. इस मामले में NGT पहले ही केंद्र और दिल्ली सरकार को फटकार लगा चूका है. लेकिन तमाम प्रयासों के बाद भी दिल्ली से धुंध नही हट रही है. लोग घर से बाहर नही निकल पा रहे है और जो निकल रहे है उनको मास्क पहनकर बाहर निकलना पड़ रहा है.

इस मामले में तमाम प्रयास कर रहे, दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल ने , दिल्ली में फैली धुंध के लिए , पंजाब और हरियाणा को जिम्मेदार ठहराया. केजरीवाल ने कहा की दिल्ली में धुंध का कारण , पंजाब और हरियाणा में , किसानो द्वारा खेतो में लगाई जा रही आग है. इस वजह से दिल्ली में प्रदूषण का स्तर खतरनाक स्तर पर पहुँच रहा है.

केजरीवाल ने इस मामले में केंद्र से हस्तक्षेप की अपील करते हुए कहा की चूँकि दिल्ली सरकार के पास बहुत सिमित अधिकार है इसलिए हम केंद्र सरकार से अनुरोध कर रहे है की वो पडोसी राज्यों के मुख्यमंत्री से बात कर इस मसले का हल निकाले. इसके अलावा मैं खुद हरियाणा और पंजाब के मुख्यमंत्री से मिल इस मामले को उनके सामने रखूँगा. एक आंकड़े में पता चला की हरियाणा पंजाब में करीब 2 करोड़ टन खांटी जलायी जा रही है.

प्रदूषण को कम करने के लिए ओड-इवन के फोर्मुले को नाकाफी बताते हुए केजरीवाल ने कहा की , ओड-इवन से इस स्तर के प्रदूषण में कमी नही आयेगी क्योकि पंजाब-हरियाणा से प्रदूषित हवा दिल्ली की तरफ आ रही है. केजरीवाल ने आगे कहा की दिल्ली एक गैस चैम्बर में तब्दील हो चुकी है. इसलिए स्कूलों को एक दिन के लिए बंद किया गया. लेकिन स्कूलों को लम्बी अवधि तक बंद रखना व्यवहारिक नही है.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment

Related Posts

loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें
SHARE