dc-cover-ir90qppsj67u8td1ocogj68fr0-20161110193004-medi

नई दिल्ली | भारत में 500 और 1000 के नोट बंद होने के बाद , बड़ी संख्या में लोग ज्वेलरी शॉप पहुँच रहे है. खबर है की 8 नवम्बर की शाम से भी ज्वेलरी की शॉप पर काफी भीड़ है. देश के कुछ ज्वेलर्स के पास तो किलो के हिसाब से आर्डर आये है. यहीं नही कुछ ज्वेलरी की दूकान खाली हो चुकी है. जिनके पास काफी बड़ी मात्रा में कैश पड़ा हुआ है, उनके लिए ज्वेलरी खरीदना सबसे बेहतर विकल्प साबित हो रहा है.

इसके अलावा देश में कुछ दलाल भी सक्रिय हो गए है जो बड़े कारोबारियों और पूंजीपतियों को उनका कालाधन ठिकाने लगाने के एवज में कुछ कमीशन वसूल रहे है. यही नही ऐसे भी दलाल पुरे देश में घुमते मिल जायेंगे जो गरीब लोगो से 500 और 1000 के नोट खरीद रहे है. 1000 का नोट 800 रूपए में और 500 का नोट 400 रूपए में ख़रीदा जा रहा है.

इन सब चीजो को ध्यान में रखते हुए आज आयकर विभाग ने देश के लगभग हर बड़े शहरो में छापे मारे. देश के हवाला कारोबारियों और ज्वेलर्स के यहाँ छापे मारे गए. आयकर विभाग से मिली जानकारी के अनुसार दिल्ली, मुंबई, कोलकाता सहित कई बड़े शहरो में यह कार्यवाही की गयी. ज्वेलरी और हवाला के जरिये काला धन सफ़ेद करने की रिपोर्ट मिलने के बाद आयकर विभाग ने यह कार्यवाही की.

बताया गया है की दिल्ली के किसी भी ज्वेलर्स के खिलाफ कोई कार्यवाही नही की गयी. आयकर विभाग ने सभी ज्वेलर्स से दो दिन के अन्दर हुई बिक्री की लिस्ट मांगी है. आयकर विभाग देखना चाहता है की इन दो दिनों में ज्वेलरी के माध्यम से कितना पैसा सफ़ेद किया गया. इसके अलावा आयकर विभाग के पास यह भी रिपोर्ट थी की ज्वेलर्स खुद कुछ कमीशन ले कर नकदी ले रही थी और इसके एवज में ज्वेलरी बेचीं जा रही थी.


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें