नई दिल्ली। जेएनयू स्टूडेंट्स, शिक्षकों के बाद मशहूर वैज्ञानिक और शायर गौहर रज़ा पर ज़ी न्यूज़ ने ख़बर चलाई है। चैनल के एक बुलेटिन में एंकर सुधीर चौधरी ने उन्हें राष्ट्र-विरोधी बना दिया। इस ख़बर के फौरन बाद देश की तमाम जानीमानी हस्तियों ने ज़ी न्यूज़ पर हमला बोला है। प्रेस काउंसिल और ब्राडकास्ट एसोसिएशन से इस चैनल के ख़िलाफ़ कार्रवाई की मांग की गई है।

गौहर रज़ा के समर्थन में शर्मीला, नसीरुद्दीन, ज़ी न्यूज़ पर कार्रवाई की मांग

सुधीर चौधरी ने अपने ‘प्राइम टाइम शो’ में कहा है कि शंकर-शाद मुशायरा में हिस्सा लेने वाले ‘अफजल प्रेमी गैंग’ के हैं। इस दौरान चौधरी ने गौहर रज़ा की नज़्म की कुछ लाइनें मनमाने वॉयसओवर के साथ जोड़कर दिखा दिया। सुधीर चौधरी के इस रवैये से नाराज़ शर्मिला टैगोर और नसीरुद्दीन शाह सरीखी बड़ी हस्तियों ने चैनल पर कड़ी कार्रवाई की मांग की है। इन्होंने कहा है कि ज़ी न्यूज़ अपनी लापरवाह कवरेज के लिए माफी मांगे।

इससे पहले ये चैनल प्रोफेसर निवेदिता मेनन के ख़िलाफ़ भी राष्ट्र विरोधी भावनाएं रखने का आरोप लगाकर बुलेटिन चला चुका है। सुमित सरकार, केएन पनिक्कर और तनिका सरकार सरीखे शिक्षाविदों ने जेएनयू प्रोफेसर निवेदिता मेनन का भी समर्थन किया है।

गौहर रज़ा के लिए जारी स्टेटमेंट में कहा गया है, ‘टीवी के माध्यम का इस्तेमाल कर किसी एक शख्स को टारगेट करना एक खतरनाक ट्रेंड है। जी न्यूज़ ने जेएनयू छात्रों के मामले में भी ऐसा ही किया है। इस चैनल के द्वारा दिखाए गए डॉक्टर्ड वीडियो ही कन्हैया, उमर और अनिर्बान की गिरफ्तारी की वजह बने थे। चैनल ने इस गैर-जिम्मेदाराना काम के लिए अब तक माफी नहीं मांगी गई है। अब उनका ये काम सामने आ गया है।

हम प्रेस काउंसिल ऑफ इंडिया और ब्रॉडकास्ट एसोसिएशन से इस आपराधिक कार्य के खिलाफ तत्काल रूप से कदम उठाने की मांग करते हैं। हम दिल्ली और केंद्र से भी एक नागरिक की जिंदगी को खतरे में डालने के लिए कदम उठाने की मांग करते हैं। हम जी न्यूज के इस अनैतिक और आपराधिक कार्य की निंदा करते हैं और बिना किसी शर्त के माफी मांगे जाने की मांग करते हैं। (liveindiahindi)


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें