भारत सरकार ने सलाफी स्कॉलर जाकिर नाइक के पासपोर्ट को रद्द करने की तैयारी शुरू कर दी है. पासपोर्ट अधिकारियों ने नाइक को कारण बताओ नोटिस किया है.

नोटिस में कहा गया कि क्यों नहीं उसके यात्रा दस्तावेज को रद कर दिया जाए? यह नोटिस पिछले सप्ताह जारी किया गया है. जाकिर नाइक ने जनवरी 2016 में अपने पासपोर्ट का नवीनीकरण कराया था. उसकी वैधता दस वर्षों के लिए है. नाइक को 13 जुलाई तक खुद पेश होकर नोटिस का जवाब देने को कहा गया है.

और पढ़े -   पहलू खान को नहीं मिला इंसाफ, हत्या के सभी आरोपियों को मिली क्लीन चिट

पिछले साल एक जुलाई से भारत छोड़कर गए नाईक की भारत आने की कोई सम्भावना नहीं है. इस समय वह मलेशिया में है. नाईक ने मलेशिया में नागरिकता के लिए अप्लाई किया हुआ है. जल्द ही नाईक को वहां की नागरिकता मिलने की संभावना है.

हालांकि नाईक के पास पहले ही सऊदी अरब की नागरिकता है. जो सऊदी शासक शाह सलमान की और से दी गई है. याद रहे उन पर कथित तौर पर आतंकियों को धन मुहैया कराने का आरोप है. जिसमे वे फरार चल रहे है.

और पढ़े -   गुजरात दंगों की जांच करने वाले वाईसी मोदी बने एनआईए प्रमुख

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE